Mango : कैसे खाएं और कब खाएं?

Home   >   आरोग्य   >   Mango : कैसे खाएं और कब खाएं?

15
views

'मोदी जी, आप आम खाते हैं'

साल 2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार को एक इंटरव्यू दिया था। अक्षय कुमार ने आम खाने के तरीके को लेकर पीएम से एक सवाल किया थाजिसकी वजह से वो लंबे वक्त तक ट्रोल होते रहे। अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा था कि 'आप आम खाते हैं? अगर खाते हैं, आप उसे काटकर खाते हैं या फिर किस तरह से?'

'आम खाना मुझे काफी पसंद है'

इस सवाल पर प्रधानमंत्री मोदी ने जवाब दिया -- 'मैं आम खाता भी हूं और ये काफी पसंद भी है। गुजरात में आमरस की परंपरा है। जब छोटा थातब आम खरीदना हमारे परिवार के लिए संभव नहीं था। कभी खेतों में चले जाते थे। किसान काफी उदार होते हैं, अगर खेत में आकर कोई खाता है तो उसे कोई रोकता नहीं हैलेकिन यदि चोरी करता है तो उसे रोका जाता है। जो नैचुरल तरीके से आम पका होता थाउसे खाना मुझे ज्यादा पसंद थाबजाए उतारकर उसे पकाया जाए। बाद में आमरस खाने की भी आदत लगी। लेकिन अब कंट्रोल करना पड़ता है कि इतना खाऊं या नहीं खाऊं।'

किसी चीज को खाने से पहले सही जानकारी हो

आम को लेकर ये तो थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात। आज हम आपको बताएंगे कि आम को कैसे खाना चाहिए? आम खाने का सही वक्त क्या है? आम खाने के क्या फायदे हैं और ज्यादा आम खाने से इसके क्या नुकसान हो सकता हैं? आयुर्वेद में कहा गया है कि किसी भी फल के पोषक तत्वों का ठीक तरह से लाभ उठाना हैतो उसे सही वक्त और सही तरीके से खाना चाहिए। क्योंकि गलत तरीके और गलत वक्त कोई भी चीज खाने से वो अपने स्वभाव के विपरीत काम करना शुरू कर देता है। किसी भी चीज को खाने से पहले उसके बारे में सही जानकारी होनी चाहिए।

फलों का राजा बेहद फायदेमंद

ऐसे ही आम है - फलों का राजा10 से भी ज्यादा तरह की किस्में। गर्मियों में बच्चे हों या बूढ़ेसभी आम खाना पसंद करता है। कई बार गलत तरीके और गलत वक्त पर आम खाने से पेट और त्वचा से जुड़ी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आम खाने के तरीके और वक्त की सही जानकारी होना बहुत जरूरी है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक स्टडी के मुताबिक, पका हुआ आम विटामिन सी, विटामिन B6, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन ई, नियासिन, पोटेशियम, राइबोफ्लेविन, मैग्नीशियम, थायमिन, प्रोटीन, कॉपर, फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है। इसमें मौजूद पोषक तत्व फायदेमंद होते हैं।  आम में नेचुरल शुगर मौजूद होता है।

आम खाने का सही वक्त?

“पोस्ट लंच” यानी कि दोपहर के खाने के कुछ देर के बाद। आप इसे लंच और डिनर के बीच के वक्त पर खा सकते हैं। इस वक्त आम खाने से आपका ब्लड ग्लूकोज लेवल सामान्य रहेगा। सुबह खाली पेट आम खाने से ब्लड शुगर लेवल तेजी से ट्रिगर होता है। इसलिए कोशिश करें कि सुबह खाली पेट आम न खाएं। ब्रेकफास्ट में आम खाया जा सकता है। लेकिन इसके साथ ओट्स और दूसरे हेल्दी ब्रेकफास्ट ऑप्शन को शामिल भी करें। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, देर रात आम खाना बिल्कुल भी सही नहीं है। ये ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ाता हैजिसकी वजह से डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। वहीं डायबिटीज के मरीजों के लिए ये और भी खतरनाक हो सकता है। इसे कभी भी डिनर के बाद डेजर्ट के रूप में न लें।

आम खाने का सही तरीका?

आम खाने से पहले जरूरी है आम खरीदने के तुरंत बाद नहीं खाना चाहिए। खाने से पहले कम से कम आधे घंटे से 01 घंटे तक पानी में डुबोकर छोड़ दें। क्योंकि आम में नेचुरल मॉलिक्यूल फाइटिक एसिड मौजूद होता है। ज्यादा मात्रा में फाइटिक एसिड लेना हेल्थ के लिए नुकसान दे सकता है। आम को पानी में डालकर कुछ देर छोड़ देने से पानी एक्स्ट्रा फाइटिक एसिड को सोख लेता है। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिकआम को पूरे फल के रूप में खाना सही तरीका है। मैंगो जूस, आमरसमैंगो स्मूदी कभी कभार ही एंजॉय करें। आम में पाया जाने वाले ग्लाइसेमिक इंडेक्स को बैलेंस करने के लिए इसमें आधा चम्मच घी मिला लें। फ्रूट सलाद के रूप में आम खाना फायदेमंद होता है। इसके साथ अन्य फल और सब्जियों को ऐड करें।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!