Omega-3 : याददाश्त के लिए बेहद जरूरी

Home   >   आरोग्य   >   Omega-3 : याददाश्त के लिए बेहद जरूरी

9
views

ये जानकारी आपके लिए क्यों है?

क्या आप भी अक्सर चीजें रखकर भूल जाते हैंदिमाग स्थिर नहीं रहता। कोई डिप्रेशन तो नहींहार्ट डिजीजस्किन डिजीज या फिर बालों की समस्या? अगर है तो ये जानकारी आपके लिए है। दरअसलहमारी बॉडी में कई तरह के फैट होते हैंलेकिन हर फैट नुकसानदायक नहीं होता। ऐसा ही एक फैट हैजो हेल्थ के लिए बेहद जरूरी है - ओमेगा-3। जो हमारे दिलदिमागस्किन को सही रखता है।  प्रोटीनविटामिनकैल्शियम और आयरन क्यों खाते हैंअपनी बॉडी और ब्रेन को हेल्दी और फिट रखने के लिए। वैसा ही ओमेगा – 3 है एक पोषक तत्व (Nutrients) की तरह। जो हमारी बॉडी और ब्रेन के लिए जरूरी है।

ब्रेन को करती है तेज

हमारा ब्रेन - जिसकी फोटो देखें तो लगता है कि जैसे ढेर सारे नर्ममुलायम पाइप आपस गुंथे हुए हों। इन सबको जो चीज आपस में जोड़ती है। वो ओमेगा-है। हमारी याददाश्त के लिए बेहद जरूरी। दोस्त का बर्थडे होशादी की सालगिरह, ऑफिस के ई-मेलबैंक का अकाउंट नंबरएटीएम का पासवर्डघर का रास्ताहमें जो भी याद रहता हैउसमें ओमेगा-की महत्वपूर्ण भूमिका है।

डिप्रेशन की वजह हो सकती पोषण की कमी

अगर ओमेगा – 3 की कमी हो जाए तो चीजें भूलने लगेंगे। साथ ही उम्र के साथ अल्जाइमर जैसी बीमारी के चपेट में आ सकते हैं। आज के दौर में स्ट्रेस और डिप्रेशन होना आम समस्या हैं। लेकिन कई बार जिसे हम डिप्रेशन समझ रहे होते हैंवो दरअसल वो न्यूट्रिएंट्स की कमी के कारण भी हो सकती है। अमेरिकी फिजिशियन और राइटर डॉ. मार्क हाइमन अपनी किताब 'फूड फिक्स' में लिखते हैं कि 'बहुत सारे केसेज में डिप्रेशन दरअसल इस बात का संकेत है कि शरीर में पोषण की कमी है।'

क्या है लक्षण?

वहीं यूनिवर्सिटी हेल्थ न्यूज की वेबसाइट की एक खबर के मुताबिक थकान महसूस होना, रात में नींद ना आना, त्वचा पर पपड़ी जमना, बालों की समस्या होना, मुंह में सूखापन, बार-बार टॉयलेट आना। ये सारे संकेत बताते हैं कि बॉडी को ओमेगा-की जरूरत है।

अब ओमेगा-3 की कमी हो जाए तो क्या करें?

हमारी बॉडी ओमेगा-खुद डेवलप नहीं करती। इसलिए ऐसी चीजें खाएं जिसमें ये पाया जाता हो। आप सी फूड्स जैसे सैल्मनमैकेरलटूनाहेरिंग और सार्डिन मछली खा सकते हैं। नट्स एंड सीड्स लें सकते हैं जैसे अलसीचिया बीज और अखरोट खाएं तो बेहतर होगा। वनस्पति तेल में अलसी का तेलसोयाबीन का तेल और कैनोला का तेल से भी ओमेगा – 3 की कमी पूरी की जा सकती है। फोर्टीफाइड फूड जैसे अंडेदहीजूसदूधसोया ड्रिंक भी डाइट में ले सकते हैं।

रोजाना कितने ओमेगा-3 की जरूरत होती है?

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की रिपोर्ट के मुताबिक बच्चों को रोजाना 1 ग्राम से लेकर 1.1 ग्राम तक पुरुषों को 1.6 ग्राम और महिलाओं को 1.1 ग्राम जबकि गर्भवती महिलाओं को 1.4 ग्राम ओमेगा-की जरूरत होती है। आप डॉक्टर या डाइटीशियन से कंसल्ट कर ओमेगा-का सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। लेकिन सप्लीमेंट जरूरत से ज्यादा लेने पर खून से संबंधित समस्या हो सकती है। जी मिचला सकता है। उल्टी जैसा महसूस हो सकता है। डायरियाडकार आनापेट फूलना और सीने में जलन की शिकायत भी हो सकती है। आप डायबिटिक हैंब्लड प्रेशर लो रहता है या आप प्रेग्नेंट हैं तो डॉक्टर की सलाह से ही सप्लीमेंट लें।

डिस्क्लेमर

ये जानकारी सिर्फ सामान्य सूचना के लिए है। किसी भी तरह की  दवा या इलाज के बारे में नहीं है। अगर आपको कोई परेशानी होकोई भी दिक्कत हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं उन्ही की ही सलाह मानें।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!