सावधान! ये गलत आदतें कर रही वक्त से पहले बूढ़ा

Home   >   आरोग्य   >   सावधान! ये गलत आदतें कर रही वक्त से पहले बूढ़ा

9
views

जवानी में क्यों बूढ़े दिखने लगे हैं यंग जेनरेशन?

कई बार पिता-बेटे की जोड़ी को देखकर ये कह देते हैं कि कहीं आप दोनों भाई – भाई तो नहीं या फिर मां-बेटी तो देखकर ही उन्हें बहन-बहन बता देते हैं। मां और पिता के लिए ये को कॉप्लिमेंट हो सकता है लेकिन बेटा या फिर बेटी के लिए ये सोचने का विषय है मतबब कई बार यंग जेनरेशन के लोग अपनी उम्र से ज्यादा बूढ़े दिखने लगे हैं। यहां तक कि इन जेनरेशन के लोगों में कई घातक बीमारियां लग रही हैं जो उनके माता-पिता में नहीं है। आखिर इसके कारण क्या हैं? आखिर जवानी में क्यों बूढ़े दिखने लगे हैं यंग जेनरेशन? इसकी वजह एक रिसर्च में सामने आई है।

युवाओं में कैंसर के बढ़े मामले

यंग जेनरेशन के लोग शारीरिक रूप से तेजी से बूढ़े हो रहे हैं। साइसिस्टों की मानें तो साल 1996 के बाद पैदा लेने वाले लोग चेहरे से अपनी उम्र से कहीं ज्यादा दिखते हैं। इतना ही नहीं चिंता की बात ये है कि युवा कैंसर जैसी बीमारी के भी शिकार हो रहे हैं जबकि उनकी उम्र फिलहाल महज 20 से 30 साल के बीच के हैं। इंटरनेशनल जर्नल में ये दावा किया गया है कि युवाओं में कैंसर के मामले बढ़े हैं, खासकर लंग्स कैंसर, पेट का कैंसर और गर्भाशय का कैंसर। आखिर इन सबकी बड़ी वजह क्या है?

युवाओं की घट रही बायलॉजिकल उम्र

साइंसिस्टों ने कहा कि निश्चित तौर पर आज के युवाओं की बायलॉजिकल उम्र घट रही है। इस विषय पर कई तरह से रिसर्च हो रही हैं और इसका सबसे बड़ा कारण फिलहाल युवाओं के खराब लाइफस्टाइल, डाइट, पर्यावरण और तनाव को माना जा रहा है। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 1997 से लेकर साल 2012 के बीच पैदा लेने वाले बच्चे अपने माता-पिता या अपने दादा-दादी की तुलना में कहीं ज्यादा गंभीर बीमारियों के शिकार होने वाले हैं।

आज के वक्त समस्या और बढ़ी

हेल्दी लाइफस्पॉन इंस्टीट्यूट की प्रोफेसर इलारिया बेलानतुआनो का कहना है कि इसके वास्तविक कारण के बारे में फिलहाल कुछ सटीक नहीं कहा जा सकता है लेकिन वर्तमान रुझानों से ये देखा जा रहा है कि युवाओं में अपने निकट संबंधियों की तुलना में ज्यादा बीमारियां लग रही हैं। कुछ साल पहले तक 50 साल से कम उम्र के लोगों में शायद ही कैंसर के मामले आते थे लेकिन आजकल तो ये 30 साल की उम्र में ही होने लगा है।

क्या कहती है रिपोर्ट?

रिसर्च में पाया गया है कि आज के युवाओं में डिप्रेशन, एंग्जाइटी, ड्रग्स की आदत के कारण जवानी में ही ब्रेस्ट कैंसर और यूटेरीन कैंसर का खतरा बढ़ गया है। वहीं रिसर्च में ये भी पाया गया है कि खून के आकार में भी परिवर्तन हो रहा है और लिवर से जो प्रोटीन बन रहा है उसकी संरचना भी अलग तरह की हो रही है। अगर आप लगातार अकेलापन महसूस करते हैं तो इससे आपके शरीर को 15 सिगरेट पीने के बराबर नुकसान होगा। जो लोग सामाजिक रूप से अलग-थलग रहते हैं, उनमें वक्त से पहले मौत का जोखिम 32 फीसदी तक ज्यादा रहता है।

बनाएं सही लाइफस्टाइल

दरअसल, जिन कारकों से वक्त से पहले लोग बूढ़े हो रहे हैं, उन कारकों को जीवन से हटाना ही इससे बचने के उपाय है। इसके लिए सही लाइफस्टाइल बनाएं। नियमित वॉक, एक्सरसाइज करें। जंक फूड, फास्ट फूड, प्रोसेस्ड फूड, रेड मीट कम खाएं। रोजाना भोजन का आधा हिस्सा हरी पत्तीदार सब्जियों और फलों से पूरा करें. तनाव न लें। पर्याप्त नींद लें और सिगरेट, शराब, ड्रग्स से दूर रहें।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!