किसी दूसरे के प्यार का संदेश देने गए एक्टर जितेंद्र खुद दिल दे बैठे

Home   >   रंगमंच   >   किसी दूसरे के प्यार का संदेश देने गए एक्टर जितेंद्र खुद दिल दे बैठे

96
views

अपने दौर के सबसे हैंडसम और स्टाइलिश एक्टर जितेंद्र एक्टर जितेंद्र का जिक्र हो और हवा में खुशबू प्यार की न आए, ऐसा कैसे हो सकता है। जितेंद्र की जिंदगी में एक वक्त ऐसा आया जब वो बॉलीवुड के सबसे सक्सेस एक्टर बन गए थे। उनकी शोहरत का आलम ये था कि वे जिस भी फिल्म में काम करते थे वो हिट हो जाती। बॉलीवुड में जंपिंग जैक जितेंद्र की धाक जम गई। उनके साथ हर कलाकार काम करना चाहता था। रील लाइफ में जितेंद्र की जोड़ी रीना राय, मौसमी चटर्जी, जयाप्रदा, श्रीदेवी के साथ खूब पसंद की गई। लेकिन रियल लाइफ में मस्त बहारों के आशिक जितेंद्र 'ड्रीम गर्ल' को दिल दे बैठे थे।

उन दिनों हेमा मालिनी भी बॉलीवुड में कदम रख चुकी थीं, और युवा दिलों की धड़कन बन चुकी थीं। इनकी खूबसूरती के कितने चर्चे थे, उनके दीवानों में एक्टर संजीव कुमार भी थे। अब संजीव कुमार ये बात हेमा मालिनी तक कैसे पहुंचाएं इसके लिए प्यार का संदेश जितेंद्र के जरिए पहुंचाने की सोची। क्योंकि उस दौर में अक्सर प्रेमी जोड़ों को मिलाने का काम जितेंद्र ही करते थे। संजीव कुमार की बात मानकर जितेंद्र ने इन दोनों के बीच मिडिएटर का काम किया, लेकिन मीडिएशन का ये काम ज्यादा लंबा न चल सका, क्योंकि जितेंद्र खुद ही उनसे प्यार कर बैठे। ये मोड़ किसी फिल्म की तरह था। लेकिन अभी इस कहानी में कई मोड़ आने बाकी थे। इसमें पांच लोग एक दुसरे से प्यार करते थे।

हेमा मालिनी की बायोग्राफी ‘हेमा मालिनी बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल’  में हेमा मालिनी की रिल और रियल लाइफ दोनों के किस्से है।

जितेंद्र हेमा से शादी करना चाहते थे, लेकिन तब एक और बड़ा मोड़ तब आया जब इस कहानी में सेंध लगाई अपने दौर के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र ने। उस दौर में धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की जोड़ी ने कई हिट फिल्में दीं। इस लिए हेमा मालिनी को धर्मेंद्र पसंद भी थे। जितेंद्र ने अपनी मां को हेमा मालिनी की मां से मिलने भेजा, बात शादी तक पहुंची। जितेंद्र और उनकी फैमिली इस शादी से खूब खुश थी। इधर धर्मेंद्र सभी दावपेंच लगा रहे थे।

हेमा मालिनी के घरवाले धर्मेंद्र से उनकी शादी के लिए तैयार नहीं थे। वजह थी धर्मेंद्र का पहले से शादीशुदा होना। जितेंद्र और हेमा मालिनी की शादी की खबरें मीडिया में आने लगीं और धर्मेंद्र को भी इसकी भनक लग गई। वे हेमा मालिनी से मिले प्यार का इजहार किया। हेमामालिनी मान गई और जितेंद्र से शादी से इनकार कर दिया। उधर धर्मेंद ने एक और चाल चली थी जिससे कहानी में एक और मोड़ आया। धर्मेंद्र को जितेंद्र की पहली मोहब्बत के बारे में पता चल गया था। दरअसल जितेंद्र और शोभा बचपन की दोस्त थे। शोभा सिर्फ 14 साल की थीं जब जितेंद्र की जिंदगी में आईं। जितेंद्र ने इन्हें मुंबई के मरीन ड्राइव पर देखा और उनसे दोस्ती हो गई। वक्त बिता तो दोनों में प्यार भी हुआ। इसके बाद शोभा ने अपनी स्कूलिंग पूरी की और जितेंद्र को एंट्री मिल गई फिल्म इंडस्ट्री में।

धर्मेंद्र ने शोभा को जितेंद्र और हेमा मालिनी के रिश्ते के बारे में सब कुछ बता दिया। उनकी पूरी कहानी सुनने के बाद जितेंद्र के पास शोभा का कॉल आया और जिससे के बाद हेमा मालिनी का प्यार का जुनून जितेंद्र के सिर से उतर गया। यहां से इनकी प्रेम कहानी बिना आगे बढ़े ही खत्म हो गई। जितेंद्र की यहां कमजोर हुई कड़ी एक्टर धर्मेंद्र के लिए प्लस प्वाइंट बन गई और हेमा हमेशा के लिए उनकी हो गईं। धर्मेंद्र से प्यार की लड़ाई में जितेंद्र हार गए।

हेमा को गंवाने के बाद जितेंद्र अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड शोभा सिप्पी को भी नहीं गंवाना चाहते थे। इसलिए साल 1974 में जितेंद्र भी शोभा के साथ शादी कर ली। आज जितेंद्र के दोनों बच्चे एकता कपूर और तुषार कपूर आज फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं। एकता काफी बड़ी प्रोड्यूसर बन चुकी हैं। तो वहीं तुषार अपने करियर के उतार-चढ़ाव से अभी भी गुजर रहे हैं।

जाते – जाते साल 1964 में रिलीज हुई उनकी फिल्म फर्ज का एक गीत याद आ रहा है जो जितेंद्र की प्यार की कहानी पर फिट बैठता है।

मैं हूं वो दीवाना, जिसके सब दीवाने हां

किसको है जरूरत, तेरी ऐ जमाने हां

मेरा अपना रास्ता, दुनिया से क्या वास्ता

मेरे दिल में तमन्नाओं की

दुनिया जवां है मेरे लिए, सारा जहां है मेरे लिए

मस्त बहारों का मैं आशिक, मैं जो चाहे यार करूं

चाहे गुलों के साए से खेलूं, चाहे कली से प्यार करूं’

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!