Arvind Kejriwal को Tihar Jail में मिलेगी ये सुविधाएं

Home   >   खबरमंच   >   Arvind Kejriwal को Tihar Jail में मिलेगी ये सुविधाएं

25
views

तिहाड़, जिसका नाम सुनते ही  एक अलग सी तस्वीर जहन में उभरती है, जहां जाने में हर वो शख्स घबराता है जिसने कोई भी अपराध किया हो क्योंकि इस जेल में देश के नामी बड़े-बड़े गैंगस्टर बंद है, जिसमें नीरज बवाना, योगेश टुंडा हाशिम बाबा, काला जठेड़ी, मंजीत महाल समेत कई नाम है. हाल ही में इसी जेल में एक गैंगस्टर का मर्डर भी हुआ था, लेकिन अब इसी तिहाड़ जेल में, दिल्ली में हुए शराब घोटाले के कथित आरोपियों को रखा गया है. जेल नंबर-1, 2 तीन छोड़ 7 तक में शराब घोटाले के आरोपी बंद है. जिसमें जेल नंबर 2 की बैरक में दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल है. दरअसल केजरीवाल को शराब घोटाले मामले में 15 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में भेजा गया है. 1 अप्रैल 2024 को शाम के 4:13 बजे अरविंद केजरीवाल ने तिहाड़ में कदम रखा. इसी के साथ 15 अप्रैल तक अरविंद केजरीवाल का नया पता तिहाड़ जेल नंबर-2 हो गया है. ये वही बैरक नंबर 2 है जहां कुछ दिन पहले तक AAP नेता संजय सिंह बंद थे, लेकिन फिर उन्हें जेल नंबर-5 में शिफ्ट कर दिया गया. वहीं मनीष सिसोदिया को जेल नंबर 1 में रखा गया है. इसके अलावा इसी केस में चौथी कथित आरोपी के कविता को लेडी जेल नंबर 6 में रखा गया है. केस में एक और आरोपी विजय नायर जेल नंबर 4 में बंद है.

वहीं मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार दिल्ली के पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन को तिहाड़ जेल की 7 नंबर जेल में रखा गया है. इस तरीके से तिहाड़ जेल में AAP के सभी दिग्गज नेता बंद है. बता दें भले ही सब एक ही जेल में हो, लेकिन एक-दूसरे से मिलना बहुत मुश्किल है क्योंकि एक ही दीवार के पीछे होते हुए सब जुदा है. केजरीवाल ने जेल में अध्ययन के लिए कोर्ट से 3 किताबें रामायण, गीता और नीरजा चौधरी क किताब How Prime Minister Decide की मांग की. इसके अलावा, जेल में दवा रखने की इजाजत मांगी है. इसके अलावा जेल में मिलने के लिए उन्होंने 6 लोगों ने नाम दिए हैं. जिसमें परिवार का नाम शामिल है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो केजरीवाल हफ्ते में दो बार वीडियो कॉल कर सकते है. साथ ही पांच मिनट की एक नॉर्मल कॉल करने की इजाजत है. ये कॉल जेल प्रशासन के जरिए रिकॉर्ड होती है. अपने परिवार या जिनका नाम उन्होंने जेल के रजिस्टर में दर्ज कराया, उनसे रोजाना 5 मिनट नॉर्मल कॉल पर बात कर सकते हैं. केजरीवाल को कोर्ट के आदेश पर ये सुविधाएं दी जा रही हैं.

बता दें कि जिस बैरक में केजरीवाल को रखा गया है, वो लगभग 14 फीट लंबी और 8 फीट चौड़ी है. इसमें टॉयलेट, एक टीवी और सीमेंट का ऊंचा बनाया हुआ एक चबूतरा है, जिस पर बिछाने के लिए एक चादर और ओढ़ने के लिए कंबल और एक तकिया दिया गया है. साथ ही 2 बाल्टियां भी दी गई हैं. एक बाल्टी में पीने का पानी रखा जाता है तो दूसरी  बाल्टी में नहाने या कपड़ा धोने का पानी इस्तेमाल कर सकते है. साथ ही एक जग भी दिया गया है. इसके अलावा केजरीवाल ने स्पेशल डाइट, टेबल, कुर्सी, दवाइयां, गद्दा, चादर, दो तकिये, दरी और चश्मा भी उपलब्ध कराए जाने की मांग की है. अब सवाल है कि आखिर जेल नंबर 2 ही क्यों इस बारे में ज्यादा जानकारी करने पर पता लगा है कि जेल नंबर 2 सजायाफ्ता कैदियों के लिए है. इस जेल में सजा पाए हुए कैदी रहते हैं. सजायाफ्ता कैदियों को कहीं लाने और ले जाने का मुद्दा नहीं रहता. वो अपने बैरेक में ही रहते हैं. इसलिए केजरीवाल की सुरक्षा के लिहाज से इस जेल को मुफीद माना गया. जेल नंबर दो में एक जनरल एरिया है. इसी में एक बैरेक है, उसी में केजरीवाल को रखा गया है. बैरेक के बाहर 4 सुरक्षाकर्मी हर वक्त तैनात रहेंगे और बैरेक को 24 घंटे CCTV की निगरानी में रखा जाएगा. बता दें कि तिहाड़ जेल में कुल 9 अलग-अलग जेल हैं. इनमें करीब 12 हज़ार कैदी बंद हैं. जिनका रोज का रुटिन फिक्स होता है. 

 

जेल नियमों के मुताबिक सुबह नहाने के बाद केजरीवाल अपनी कानूनी टीम के साथ बैठक कर सकेंगे या अगर कोई सुनवाई होनी है तो कोर्ट के सामने पेश हो सकेंगे.

सुबह 10:30 से 11:00 बजे के बीच उन्हें लंच प्रदान दिया जाएगा, जिसमें आमतौर पर एक दाल, एक सब्जी, 5 रोटी या चावल होते हैं.

केजरीवाल ने अपनी डाइबिटीज बीमारी को देखते हुए विशेष डाइट की मांग की है.

लंच के बाद बाकी कैदियों की तरह दोपहर 12:00 बजे से 3:30 बजे तक केजरीवाल को उनकी कोठरी में बंद रखा जाएगा.

इसके बाद उन्हें एक कप चाय और 2 बिस्किट दिए जाएंगे और वे शाम 4:00 बजे अपने वकीलों से मिल सकेंगे.

शाम 5:30 बजे उन्हें डिनर दिया जााएगा, जिसमें वही लंच वाली चीजें ही होंगी.

 अंत में रात 7:00 बजे उन्हें रातभर के लिए उनकी कोठरी में बंद कर दिया जाएगा.

केजरीवाल भोजन के समय और बंद होने के समय को छोड़कर टेलीविजन देख सकते हैं. समाचार, खेल और मनोरंजन सहित 18 से 20 चैनलों की अनुमति है.

लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि अभी तक केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा नहीं दिया है और तिहाड़ से जेल वो सरकार कैसे चला पाएंगे ये देखना होगा.

कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!