Atiq Ahmed के Underworld Connection का खुलासा, Asad को छिपाने के लिए Abu Salem से मांगी थी मदद !

Home   >   खबरमंच   >   Atiq Ahmed के Underworld Connection का खुलासा, Asad को छिपाने के लिए Abu Salem से मांगी थी मदद !

129
views
क्या डॉन अतीक अहमद का पाकिस्तान से कोई कनेक्शन है ?
क्या अतीक का अंडरवर्ल्ड से भी कोई लेना देना है ?
क्या डॉन दाउद का भी अतीक से कोई संबंध था ??

ऐसे कई सवाल है जो इन दिनों माफिया अतीक के ईर्द गिर्द घूम रहे है...क्योंकि अतीक और उसके भाई अशरफ को इलाहाबाद की CJM कोर्ट ने 4 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर भेज दिया है.... हालांकि, कस्टडी रिमांड के लिए पुलिस की ओर से दी गई अर्जी में दावा किया गया है कि अतीक अहमद के संबंध पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI और लश्कर-ए-तैयबा से हैं...जिसके बात से ऐसे कोई सवालों ने अतीक की मुश्किलों को बढ़ा दिया है...
 
एक ओर अतीक के बेटे असद का एनकाउंटर हो गया, दूसरी ओर अतीक से सवालों के लिए लंबी फेहरिस्त अब पुलिस ने तैयार कर ली है.... हालांकि इससे पहले पुलिस ने कोर्ट में बताया है कि अतीक के बयान में उसने स्वीकार किया है कि उसके पास हथियारों की कोई कमी नहीं है.... क्योंकि पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए पंजाब की सीमा में हथियार गिराए जाते हैं, जिन्हें लोकल कनेक्शन इकट्ठा कर लेता है....उन्हीं खेपों से जम्मू-कश्मीर के दहशतगर्दों को भी हथियार मिलते हैं पुलिस ने कोर्ट में दाखिल अपने दस्तावेजों में कहा है कि अतीक ने स्वीकारा है कि उसने साबरमती जेल में ही उमेश पाल हत्याकांड की योजना बनाई थी.... उसने अपनी पत्नी शाइस्ता को पूरी योजना समझाते हुए नए सिम लेने को कहा था.... नए सिम उसे और बरेली जेल में बंद अशरफ के साथ ही हत्याकांड में शामिल शूटरों और मददगारों को भी दिए गए थे.... ये भी बताया था कि हथियार कहां से मिलेंगे, उन्हें कहां छुपाए जाएगा और रुपयों की व्यवस्था कहां से होगी....इस हत्याकांड के लिए सबको कोडनेम भी दिया गया था.... इस हत्याकांड में उसका छोटा भाई अशरफ भी बराबर संपर्क में था और शूटरों को गाइड कर रहा था....इन्हीं सबके बीच एक बड़ा नाम भी सामने आया वो है...डॉन अबू सलेम का...दाऊद के सबसे खास डॉन अबू सलेम के भी एक करीबी ने अतीक की मदद की थी..
 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अतीक के अपने बेटे असद को बचाने के लिए अपने सारे संपर्कों का इस्तेमाल किया... अतीक के इंटरनेशनल माफिया डॉन अबू सलेम के करीबियों के अलावा दिल्ली के एक बड़े राजनेता की मदद ली थी.. झांसी में उसे जिस जगह ढेर किया गया....वहां उमेश पाल हत्याकांड को अंजाम देने के बाद शूटर गुड्डू मुस्लिम 26 फरवरी को आया था और तीन दिन तक छिपा रहा था.
 
सूत्रों की मानें तो 24 फरवरी को उमेश पाल की हत्या करने के बाद असद और गुलाम मोटरसाइकिल से प्रयागराज से कानपुर गए थे.. कानपुर के बाद दिल्ली, फिर मेरठ, फिर अजमेर चला गया...अजमेर के बाद अतीक के भाई अशरफ ने उसे नासिक जाने को कहा...नासिक पहुंचने के बाद असद की मदद अबू सलेम के एक करीबी ने की... जिसकी भनक जब पुलिस को लगी तोवो फिर से दिल्ली चले गए ..और कुछ समय बीताने के बाद झांसी आ गए... झांसी पारीछा डैम के पास गुड्डू मुस्लिम के करीबी ने उठको ठहराया था... पुलिस सूत्रों की मानें तो असद और शूटर गुलाम पुलिस के काफिले पर हमला करने करने की साजिश रच रहे थे... इसके लिए गुड्डू को भी झांसी आना था...इससे पहले एसटीएफ ने असद और गुलाम मोहम्मद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया.
 


अतीक का पुराना है अबू सलेम से याराना !
अतीक अहमद का अबू सलेम से काफी पुराना संबंध है. प्रदेश में साल 2007 में बसपा सरकार बनने पर अतीक के खिलाफ पुलिस ने नजरें टेढ़ी की तो वो भागकर अबू सलेम के पास गया था और कई दिनों तक मुंबई में छिपा रहा. इस बार उसने असद को बचाने के लिए अबू सलेम की मदद ली.


फिलहाल अब सारे संपर्क रखे रह गए अतीक का बेटा जिसे वो शेर कहता था.. वो अब मिट्टी में मिल गया है... अब STF को वारदात में शामिल तीन अन्य शूटरों गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अरमान की तलाश है....अब ये कब गिरफ्त में होते हैं.. या इनको कब मिट्टी में मिलाया जाता है.. ये देखने वाली बात होगी.
कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!