कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद से बृजभूषण शरण सिंह का इस्तीफा देने से इनकार? खेल मंत्री से मिलने पहुंचे पहलवान

Home   >   खबरमंच   >   कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद से बृजभूषण शरण सिंह का इस्तीफा देने से इनकार? खेल मंत्री से मिलने पहुंचे पहलवान

279
views

कुश्ती महासंघ और पहलवानों के बीच आर-पार की लड़ाई तीसरे दिन भी जारी है। देश के नामचीन पहलवान अभी भी जंतर-मंतर पर जमे हुए हैं और कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर लगातार कार्रवाई की मांग को बुलंद कर रहे हैं। एक तरफ जहां बृजभूषण शरण सिंह इस आंदोलन को राजनीतिक और षड़यंत्र करार देकर पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं। तो वहीं दूसरी ओर दोनों तरफ से सपोटर्स की लॉबी बढ़ती ही जा रही है। लेकिन सरकार इस मामले का ज्यादा तूल देने के बजाए जल्द से जल्द खत्म कराना चाह रही है।    

कुश्ती संघ और पहलवानों की रस्साकसी थमने का नाम नहीं ले रही है। बृजभूषण शरण सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस में आएं और कई दावे किए। वहीं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और पहलवानों के बीच दूसरे दौर की मीटिंग कुछ देर में शुरु होने ही उम्मीद है। इस बीच गोल्ड मेडलिस्ट रेसलर नरसिंह यादव ने बृजभूषण शरण सिंह को अपना समर्थन दिया है और कुश्ती फेडरेशन अध्यक्ष पर लगे आरोपों को साजिश बताया है।

पहलवानों ने खेल मंत्रालय से बृजभूषण शरण सिंह पर कार्रवाई की मांग तेज कर दी है। इसके लिए खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के बुलावे पर पहलवानों का प्रतिनिधि मंडल उनके सरकारी आवास पर मिलने पहुंचा। सूत्रों के मुताबिक 4 घंटे चली इस वार्ता में अनुराग ठाकुर ने पहलवानों को आरोपों की जांच और मांगों पर विचार के लिए कमेटी बनाने का सुझाव दिया। ऐसा कहा जा रहा है कि इस पर पहलवान राजी नहीं हुए।

आश्चर्य की बात ये है कि कुश्ती महासंघ के खिलाफ धरना दे रहे ज्यादातर पहलवान हरियाणा के हैं। लेकिन हरियाणा कुश्ती संघ बृजभूषण शरण सिंह को स्पोर्ट कर रहा है। इस आंदोलन को लेकर एक आवाज ये भी उठ रही है कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश लॉबी के बीच कुश्ती संघ पर कब्जे की ये जंग है। जिसमें हरियाणा लॉबी का पर्दे के पीछे से हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेटे राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा नेतृत्व कर रहे हैं। ऐसी चर्चा है कि बृजभूषण शरण सिंह ने दीपेंद्र सिंह हुड्डा को हराकर पहली बार भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष का चुनाव जीता था। बृजभूषण शरण सिंह का आरोप है कि दीपेंद्र सिंह हुड्डा उसी का बदला ले रहे हैं।

इस आंदोलन को लेकर चर्चा ये भी है कि अगर खेल मंत्रालय ने बृजभूषण शरण सिंह पर जल्द कार्रवाई नहीं करता है, तो आने वाले 2 दिनों में पहलवानों के समर्थन में हरियाणा के खाप मंचायतें दिल्ली कूच करेंगी। विनेश फोगाट ने भी सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि अगर सरकार बृजभूषण शरण सिंह पर कार्रवाई नहीं करती है तो हम उनके खिलाफ यौन शोषण की FIR दर्ज कराएंगे।

कुश्ती महासंघ और पहलवानों के बीच चल रही इस आर-पार की जंग को सरकार जल्द से जल्द खत्म कराना चाह रही है। क्योंकि आने वाले दिनों में 9 राज्यों में चुनाव होने हैं। विरोधी पार्टियों नें भी अब इस आंदोलन में रूचि लेना शुरु कर दिया है। इसलिए सरकार नहीं चाहती है कि इसका फर्क चुनाव में पड़े।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!