Bhutan के रास्ते India की घेराबंदी कर रहा China, 'Chicken Neck' Corridor पर मंडराया खतरा

Home   >   खबरमंच   >   Bhutan के रास्ते India की घेराबंदी कर रहा China, 'Chicken Neck' Corridor पर मंडराया खतरा

237
views

चीन अपनी चालबाज नीति के तहत कुछ न कुछ खुराफात करता है। डोकलाम में जामफेरी रिज तक पहुंचने के मंसूबे से चीन ने टोरसा नाला में ब्रिज बनाया है। इस ब्रिज के बनाए जाने से भारत के सिलिगुड़ी कॉरिडोर पर खतरा हो जाएगा। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानी LAC के पास चीन की एक और साजिश का खुलासा हुआ है। जानकारी मिली है कि ड्रैगन ने भारत-भूटान-चीन ट्राई-जंक्शन पर अपनी एक्टिविटी बढ़ा दी है।

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानी LAC के पास चीन की एक और साजिश का खुलासा हुआ है. जानकारी मिली है कि ड्रैगन ने भारत-भूटान-चीन ट्राई-जंक्शन पर अपनी एक्टिविटी बढ़ा दी है। चीनी सेना जामफेरी रिज तक पहुंचती है तो भारत के सिलिगुड़ी कॉरिडोर पर खतरा हो जाएगा । जामफेरी रिज की अहमियत यह है कि यहां जो पहले पहुंचेगा, वह दूसरे पर पूरी तरह हावी हो सकता है। चीनी सैनिक जामफेरी रिज पहुंचे तो उन्हें भारतीय सेना के डोकला पोस्ट पहुंचने में देर नहीं लगेगी। जामफेरी रिज से सीधे सिलिगुड़ी कॉरिडोर पर नजर रखी जा सकती है। भारत का सिलिगुड़ी कॉरिडोर सामरिक रूप से बेहद अहम है। यह बहुत संकरा रास्ता है जिससे पूरा नॉर्थ-ईस्ट देश के बाकी हिस्से से जुड़ता है।

रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण जामफेरी रिज एक भौगोलिक भूभाग है।जो चिकन्स नेक या सिलीगुड़ी कॉरिडोर के उत्तर-पूर्वोत्तर में लगभग 500 मीटर की दूरी पर है । 2017 में भी चीन ने डोकलाम के जामफेरी रिज तक ही सड़क बनाने की कोशिश की थी जिससे गाड़ियां सीधे जामफेरी रिज पहुंचें। भारतीय सेना ने चीनी सैनिकों को सड़क का काम करने से रोका था। 72 दिनों तक चले गतिरोध के बाद चीनी सैनिकों को लौटना पड़ा। बाद में चीनी सेना ने डोकलाम में कई इंफ्रास्ट्रक्चर और हेलिपैड बनाए। करीब 600 सैनिकों की स्थाई तैनाती भी की।

सिलीगुड़ी कॉरिडोर के पास चीन अपने पैर पसार रहा है। सिलीगुड़ी कॉरिडोर के करीब सीमा से महज 20 किलोमीटर दूर उत्तर में लांगमारपो नाम की जगह पर भी चीन ने भूटानी इलाके को कब्जा लिया है और यहां तेजी से कंस्ट्रक्शन कर रहा है. इस क्षेत्र में भारत की सबसे बड़ी चिंता सिलीगुड़ी कॉरिडोर है। जिसे चिकन नेक के नाम से भी जाना जाता है। ये इलाका भारत के लिए रणनीतिक रूप से काफी संवेदनशील और महत्वपूर्ण है... ये गलियारा 60 किमी लंबा और 20 किमी चौड़ा है और उत्तर-पूर्व को शेष भारत से जोड़ता है।

सिलीगुड़ी कॉरिडोर पांच देशों से घिरा हुआ है। एक ओर भूटान, एक ओर नेपाल, एक ओर, चीन, एक ओर बांग्लादेश औऱ पांचवी ओर भारत. इन पांच देशों से मिली हुई सीमाओं के बीच सिक्कम में आने का केवल एक ही रास्ता है और वो है दक्षिण के जरिये. बाकी चारो ओर सिक्किम में विभिन्न देश हैं। इसके साथ ही ये भी ध्यान रखना जरूरी है कि सिक्किम में आने जाने के लिए गतिविधियों पर रोक तो हैं ही लेकिन चुनौतियां भी उतनी ही अधिक है। सिक्किम की आबादी केवल छह लाख है।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!