दिल्ली मर्डर केस के आरोपी साहिल का होगा PAT टेस्ट, क्या होता है और क्यों ये टेस्ट इतना सुर्खियों मे है?

Home   >   मंचनामा   >   दिल्ली मर्डर केस के आरोपी साहिल का होगा PAT टेस्ट, क्या होता है और क्यों ये टेस्ट इतना सुर्खियों मे है?

97
views

अगर आपको याद हो...ठीक 1 साल पहले 18 मई 2022 को दिल्ली के छतरपुर इलाके में बॉयफ्रेंड आफताब पूनावाला ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी थी और फिर लाश को कई टुकड़ों में महरौली इलाके में फेंक दिया था। इस मर्डर मिस्ट्री से जुड़े अनसुलझे सवालों के जवाब के लिए बाद में दिल्ली पुलिस ने आरोपी आफताब का पॉलीग्राफी, वाइस सैंपल, नार्को समेत PAT टेस्ट कराए थे, इसको कराने का सीधा सा मतलब था कि आफताब से ज्यादा से ज्यादा बातें उगलवायी जा सके ताकि कोर्ट में सबूतों का इस्तेमाल हो सकें। जरा रुकिए...PAT टेस्ट पता है आपको क्या होता है? और क्यों ये टेस्ट इतना सुर्खियों में है। क्योंकि दिल्ली पुलिस अब 28 मई को शहर के शाहबाद डेयरी इलाके में 16 साल की नाबालिग साक्षी की हुई बर्बरतापूर्ण हत्या के आरोपी साहिल खान का भी यही टेस्ट करवाने जा रही है।

देश को झकझोर देने वाले दिल्ली के साक्षी हत्याकांड का वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिसने भी देखा उसकी रूह कांप गई। गुस्से में लोग आरोपी साहिल को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे हैं। फिलहाल साहिल 2 दिन की पुलिस रिमांड में है, जहां पुलिस उससे मर्डर का राज खुलवाने में जुटी हुई है। पुलिस को शक है कि इस मर्डर में कई और लोग भी शामिल हो सकते हैं, जिन्हें साहिल बचाने की कोशिश कर रहा है। इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि पुलिस अब साहिल का PAT टेस्ट करवाएगी, जिससे सब कुछ पता चल जाएगा।  

PAT टेस्ट को साइको एनालिसिस टेस्ट भी कहां जाता है। अगर आरोपी चुप रहता है और जांच एजेंसियों के किसी भी सवाल का जवाब नहीं देता है तो एजेंसियां मामले की सच्चाई और सबूतों को निकालने लिए इस टेस्ट का इस्तेमाल करती हैं। करीब 3 घंटे चलने वाले इस टेस्ट में मनोचिकित्सक आरोपी को दवा या इंजेक्शन के जरिए सम्मोहन की स्थिति में ले जाते हैं। जिसके बाद सवालों के जरिये शख्स के दिमाग, उसके रहन-सहन, उसकी लाइफस्टाइल, हॉबीज और सब चीजों का लेखा-जोखा इकट्ठा किया जाता है। इस टेस्ट को करने में 4 से 5 मनोचिकित्सक लगते हैं। 

बता दें, श्रद्धा मर्डर केस में आफताब का भी PAT टेस्ट करवाया गया था। दिल्ली में ये टेस्ट CBI हेडक्वॉटर और FSL के रोहणी स्थित ऑफिस में होता है, लेकिन अब ये पुलिस के ऊपर है कि वो साहिल का टेस्ट कहां करवाती है। दिल्ली पुलिस का इस टेस्ट को करवाने का सीधा सा मतलब ये है कि आखिर पता चल सके उस वक्त साहिल की मनोस्थिति क्या थी।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक साक्षी का मर्डर कोई गुस्से या जुनून में उठाया कदम नहीं था, बल्कि एक साजिशन हत्या थी। पुलिस की जांच में सामने आया है कि आरोपी ने लड़की को मारने की पहले ही प्लानिंग की थी। मामले में साहिल के दोस्तों की भूमिका की भी पुलिस जांच कर रही है। घटना से जुड़े कुछ वीडियो और CCTV भी सामने आए हैंएक वीडियो में साहिल का दोस्त भी उसके साथ नजर आ रहा है। साहिल के कई दोस्त पुलिस के रडार पर हैं औऱ जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!