देश में ही पता लग जाएगा कौन सी गाड़ी में कितना दम? सरकार ला रही BNCAP नियम

Home   >   खबरमंच   >   देश में ही पता लग जाएगा कौन सी गाड़ी में कितना दम? सरकार ला रही BNCAP नियम

99
views
लगातार होते सड़क हादसों से सबब लेकर अब मोदी सरकार भारत न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम यानी BNCAP लागू करने की तैयारी में है. इसमें गाड़ियों के क्रैश टेस्ट में उनके प्रदर्शन के आधार पर ‘Star Rating’ देने का प्रस्ताव है. भारत में हर साल लगभग 1.5 लोग रोड एक्सीडेंट में मारे जाते हैं. जबकि 18 लोग हर घंटे सड़क हादसे में जान गंवाते है. जिसको देखते हुए सरकार ने सड़क यात्रा को सुरक्षित करने के लिए योजना तैयार की है. अब सरकार अपनी खुद की सेफ्टी रेटिंग व्यवस्था ला रही है. इसके तहत 1-5 तक की रेटिंग कारों को दी जाएगी. सरकार का मकसद इसे 1 अक्टूबर, 2023 से लागू करने का है. तमाम स्टेकहोल्डर्स से अगले 30 दिन में सुझाव मांगे गए है. सरकार ने ये भी कहा है कि अगर किसी को नई व्यवस्था से कोई आपत्ति हो तो उसे भी दर्ज किया जाए, ताकि उससे निपटने पर विचार किया जा सके.

Ministry of Road Transport and Highways का प्रस्ताव है कि सभी M-1 कैटेगरी की गाड़ियों के लिए (3.5 टन से कम वजन वाली) BNCAP लागू किया जाएगा. ये हर गाड़ी के लिए लागू होगा, चाहे वो देश में बनी हो या विदेश से आयात की गई हो.

BNCAP कुल M1 वाहनों पर लागू होगा.
M1 कैटेगरी गाड़ी का मतलब वो सभी सवारी गाड़ियां हैं, जिसमें ड्राइवर समेत 8 लोगों तक बैठने की व्यवस्था होती है.

3 कसौटियों पर होगी रेटिंग

1- Adult Occupant Protection
मतलब 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए कितनी सुरक्षित है.

2- Child Occupant Protection:
गाड़ी बच्चों के लिहाज से कितनी सुरक्षित है.

3- Safety Assit Technology:
सुरक्षा के लिहाज से टेक्नोलॉजी कितनी है. इसमें सीट बेल्ट अलार्म, सेंसर, स्मोक डिटेक्शन और एक्सीडेंट के बाद गाड़ी से निकलना कितना आसान है, ये सब देखा जाएगा.

BNCAP से जांच के बाद जारी होगी रेटिंग
BNCAP एक टेस्टिंग एंजेसी होगी, जो AIS-197 मानकों को जांचते हुए रेटिंग देगी. अभी इस रेटिंग व्यवस्था को इच्छुक रखा गया है. 1 अक्टूबर 2023 से रेटिंग के इच्छुक मैन्युफैक्चरर या इंपोर्टर गाड़ी की हर तरह की जानकारी को एक फॉर्म में भरकर टेस्टिंग एजेंसी को देंगे. इसके बाद रेटिंग को प्रमाणित करने वाली एजेंसी यानी सरकार की वेबसाइट पर कार रेटिंग को जारी कर दिया जाएगा.

क्या है BNCAP?
BNCAP आपके लिए नया हो सकता है लेकिन अगर आप कारों में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने ग्लोबल NCAP का नाम सुना होगा. कारों का क्रैश टेस्ट करने और उन्हें स्टार रेटिंग का जो काम ग्लोबल NCAP करती है, वही काम BNCAP करेगी. बस इसे भारत सरकार रेगुलेट करेगी और इसके नियम तय करेगी.
केंद्र सरकार का मानना है कि कंपनियां रेटिंग के लिए खुद ही आगे आएंगी. सबसे बड़ा फायदा होगा कि आने वाले दिनों में सिर्फ सुरक्षित गाड़ियां ही बनेंगी. यानी उन गाड़ियों में एयरबैग, थ्री प्वाइंट सीट बेल्ट, बेल्ट अलार्म समेत सभी जरूरी चीजें होंगी. रेटिंग का खर्च ऑटो कंपनी या इंपोर्टर की तरफ से किया जाएगा. अब गाड़ियों को रेटिंग के लिए विदेश भेजने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि देश में ही कारों की रेटिंग हो जाएगी. विदेशों से मिलने वाली रेटिंग पर आने वाले खर्च की तुलना में BNCAP से रेटिंग लेना विदेशों के मुकाबले सस्ता भी पड़ेगा. इस रेटिंग की एक अच्छी बात ये भी है कि ये भारत की सड़क और जरूरत को ध्यान में रखते हुए दी जाएगी.

भारत में सबसे सुरक्षित कारों की बात करें तो इस लिस्ट में Tata और Mahindra की कारें सबसे आगे हैं. इन्हें 5 Star रेटिंग दी गई है.

Tata Punch, Tata Altroz और  Tata Nexon
Mahindra XUV700 और Mahindra XUV300
Volkswagen Taigun, Skoda Kushaq

अब 1 अक्टूबर 2023 से जो भारत  न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम लागू हो रहा है. उससे सड़कों हादसों कितने कम होते है. ये देखने वाली बात होगी. इस पर आपका क्या कुछ कहना है. कमेंट्स करके जरूर बताएं और वीडियो को लाइक औऱ शेयर जरूर करें
 
 
 
 
कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!