एक्स्ट्रामैरिटल डेटिंग ऐप ग्लीडेन की भारत में बढ़ी डिमांड।

Home   >   Techमंच   >   एक्स्ट्रामैरिटल डेटिंग ऐप ग्लीडेन की भारत में बढ़ी डिमांड।

202
views

शादी के बाद भी डेटिंग शायद साफ तौर पर सामने से न दिखे, लेकिन एक रिपोर्ट ने दावा किया है कि भारत में भी एक्स्ट्रामैरिटल डेटिंग दबे पांव एंट्री कर चुकी है और अब वो अपने पैर पसार रही है। ऐसा हम नहीं कह रहे, ऐसा ग्लीडन एप में रजिस्टर्ड एकाउंट बताते हैं।

फ्रांस के एक डेटिंग एप ग्लीडेन ने हाल में अपने एप की सक्सेस को दुनिया के सामने रखा, जिसमें इस एक्स्ट्रा मैरियल डेटिंग एप ग्लीडेन ने बताया कि दुनियाभर में ये 10 मिलियन यूजर्स बना चुकी हैं। सामने आए ये नंबर्स इंडिया को कैसे प्रभावित करते हैं? तो बता दें, रिपोर्ट के मुताबिक इन 10 मिलियन एकाउंट्स में 2 मिलियन लोग इंडिया से हैं और सिंतबर 2022 के बाद इसमें 11 परसेंट का इज़ाफा भी हुआ है। वैसे कंपनी ने ये भी बताया कि इन सब्सक्राइबर्स में ज्यादातर लोग टीयर 1 शहर से हैं। इसमें 66 परसेंट टीयर 1 और बाकी के 44 परसेंट टीयर 2- टीयर 3 शहर के लोग हैं।

ग्लीडेन के कंट्री मैनेजर इंडिया शिडेल ने भारत में बढ़ रहें इन नबर्स को लेकर बताया कि 'भारत एक ऐसा देश है, जहां शादी की बड़ी मान्यता है। ऐसे में ऐप पर यूजर्स की लगातार बढ़ती संख्या चौकाने वाली है। साल 2022 में 18 परसेंट से ज्यादा नए यूजर्स इस ऐप से जुड़े हैं, दिसंबर 2021 में इन यूजर्स की संख्या जहां 1.7 मिलियन थी। तो अब वर्तमान में ये संख्या 2 मिलियन से भी ज्यादा हो गई है'।

वैसे, एक्स्ट्रामैरिटल एप्स को मैरिट लोगों के हिसाब से ही डिजाइन किया जाता है। इस एप में महिलाओं और पुरुषों की भागीदारी के बारे में अगर बात करें, तो आंकडे जारी होने तक यानी साल 2023 की शुरुआत तक 60 परसेंट पुरुष और 40 परसेंट महिलाएं की हिस्सेदारी रही है।  

वैसे, आकंडे ये भी कहते हैं कि एप पर जो भारतीय मौजूद है वो काफी हाईप्रोफाइल हैं। मेल हो या फीमेल हाउस वाइफ्स से लेकर इंजीनियर, मैनेजर, डाक्टर्स और एडवाइजर्स तक इसका इस्तेमाल कर रहें हैं। वहीं अगर एज की बात कर लें, तो ज्यादातर पुरुष 30 साल की उम्र से ज्यादा और महिलाएं 26 साल से ज्यादा उम्र की हैं।

 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!