हिटलर की पेंसिल होगी नीलाम, जानें किस प्रेमिका ने दिया था उपहार?

Home   >   मंचनामा   >   हिटलर की पेंसिल होगी नीलाम, जानें किस प्रेमिका ने दिया था उपहार?

77
views

एक खबर इन दिनों सुर्खियों में छाई हुई है कि एडोल्फ हिटलर की एक पेंसिल की नीलामी होने वाली है। ये पेंसिल इसलिए खास मानी जा रही है क्योंकि हिटलर को ये पेंसिल तोहफे के तौर पर उसकी महिला मित्र ईवा ब्रॉन ने गिफ्ट की थी। पेंसिल की नीलामी 6 जून को आयरलैंड के बेलफास्ट में होगी। इसका आयोजन ब्लूमफील्ड ऑक्शन ने किया है। पेसिंल के साथ-साथ हिटलर के साइन वाली एक तस्वीर, उसकी कुछ कटलरी और साल 1869 में रानी विक्टोरिया के लिखे माफीनामे की भी नीलामी होगी। 8.5 सेंटीमीटर की ये पेंसिल व्हाइट मेटल से बनी है। ऊपर से चांदी की कोटिंग है। पेंसिल की कीमत फिलहाल तय नहीं है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये पेंसिल की नीलामी में करीब 80 हजार पाउंड मिल सकते हैं। अब सोचिए जिस पेंसिल में दुनियाभर के लोगों की इतनी दिलचस्पी है तो उससे जुड़ी प्रेम कहानी कितनी दिलचस्प होगी। आज किस्सा एडोल्फ हिटलर और ईवा ब्रॉन की उस प्रेम कहानी का जिसका प्रतीक मानी जाती है ये पेंसिल...

एडोल्फ हिटलर... वक्त का पाबंद एक तानाशाह जिसे दुनिया एक क्रूर और सख्त स्वभाव के इंसान के तौर पर जानती है, पर उस सख्त इंसान को इवा ब्रॉन से प्यार हुआ। ऐसा माना जाता है हिटलर को वो पेंसिल ईवा ब्रॉन ने उसके 52वें जन्मदिन पर तोहफे में दी थी। हिटलर की तरह उसकी पेंसिल भी खास है। पेंसिल पर अंग्रेजी के दो अक्षर लिखे हुए हैं यानी AH... इसमें A का मतलब एडॉल्फ और H का मतलब हिटलर है। हिटलर की प्रेमिका ने पेंसिल पर इन दो अक्षरों को लिखवा कर इसे गिफ्ट किया था। ये पेंसिल हिटलर और इवा के प्यार की निशानी है।

साल 1929 में म्यूनिख में हिटलर से इवा की पहली मुलाकात हुई थी। इवा ब्रॉन जर्मन फोटोग्राफर थीं और हिटलर के पर्सनल फोटोग्राफर हेनरिक हॉफमैन की असिस्टेंट हुआ करती थीं। उस वक्त इवा की उम्र 17 साल थी। धीरे-धीरे इवा और हिटलर में नजदीकी बढ़ी। हिटलर उस वक्त इवा से 23 साल बड़ा था। 1935 आते-आते दोनों में इतने करीब आ गए कि जर्मन तानाशाह ने इवा को एक अलग अपार्टमेंट दे दिया।

नजदीकियां इस हद तक होने के बावजूद हिटलर और इवा कभी पब्लिकली एक साथ नजर नहीं आए। दोनों की इकलौती तस्वीर 1936 के विंटर ओलंपिक्स के दौरान की है, जो एक अखबार में छपी थी। इतिहासकारों के मुताबिक, उस वक्त तक इवा और हिटलर एक साथ घर में ही रहने लगे थे। 

इनसाइड द थर्ड रीख में आर्किटेक्ट अल्बर्ट स्पीयर ने लिखा है कि बरगॉफ में हिटलर के कमरे के ठीक बगल में इवा का कमरा हुआ करता था। यहां तक कि बर्लिन के बंकर में भी इवा को अलग कमरा दिया गया था इश्क के जुनून का अंदाजा आप इस बात से लगा लीजिए कि हिटलर से मुलाकात के बाद शुरुआती सालों में इवा ने दो बार सुसाइड की कोशिश भी की थी, ताकि हिटलर का और अटेंशन हासिल कर सके। साल 1932 में इवा ने खुद के सीने में गोली मारने की कोशिश की थी और साल 1935 में दवाइयों का ओवरडोज ले लिया था। 

जर्मन इतिहासकार हाइट गॉर्टमेकर अपनी किताब Eva Braun: Life with Hitler में लिखते हैं कि लड़ाई के बाद चंद लोगों को छोड़कर जर्मनी के लोगों को इवा और हिटलर के बारे में नहीं पता था। इवा कभी भी नाजी पार्टी के मेंबर नहीं रहीं थीं, इसके बावजूद हिटलर ने उन्हें अपना प्राइवेट सेक्रेटरी बनाया था, ताकि लोगों को दोनों के रिश्ते पर कोई शक ना हो। माना जाता है कि अप्रैल 1945 में सुसाइड से ठीक पहले हिटलर और इवा ने एक बंकर में शादी कर ली थी। जिसके गवाह बने थे नाजी पार्टी के नेता पॉल जोसेफ गोएबल्स और मार्टिन बोरमैन। बाद में जब जर्मनी की हार साफ नजर आने लगी तब इसी बंकर में पहले इवा ने सायनाइड खाकर जान दे दी और चंद मिनट बाद हिटलर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!