Karnataka में Congress की जीत में Rahul-Priyanka के Strike Rate ने PM मोदी-CM योगी को भी छोड़ा पीछे

Home   >   खबरमंच   >   Karnataka में Congress की जीत में Rahul-Priyanka के Strike Rate ने PM मोदी-CM योगी को भी छोड़ा पीछे

115
views

नफ़रत के बाज़ार में, मोहब्बत की दुकान खोल रहा हूँ....

ये बात राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कही थी... किसी को भी अंदाजा नहीं था कि इसका असर आगे आने वाले दिनों में क्या होगा....बारिश के मौसम में जब राहुल भाषण दे रहे थे... तब लोगों के मन में एक उम्मीद थी... जिसका साफ सीधा असर कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में देखने को मिला....कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में कांग्रेस की बड़ी जीत हुई है... और बीजेपी की करारी हार.... कांग्रेस की शानदार जीत से पार्टी में खुशी की लहर देखने को मिल रही है... क्योंकि पिछले कई विधानसभा चुनावों में शिकस्त के बाद ये पार्टी की सबसे बड़ी जीत है...एक ओर कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को श्रेय दे रहे हैं... तो वहीं कुछ कांग्रेस के नेता प्रियंका गांधी के सॉफ्ट नेचर को... क्योंकि दोनों ने कर्नाटक में जीत के लिए दिन-रात मेहनत की है....राहुल-प्रियंका के अलावा पर्दे के पीछे भी एक टीम काम कर रही थी... ऐसे में ये जानना बेहद जरूरी है कि जिन रास्तों से राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा गुजरी वहां कांग्रेस कितनी सीटें जीत पाई..

राहुल की भारत जोड़ो यात्रा कांग्रेस के लिए संजीवनी बनी.... और राहुल का नफरत के बीच मोहब्बत वाले बयान लोगों के दिलों में जहन कर दिया है.... जीत के बाद राहुल ने फिर इस बात को भी दोहराया कि... 

नफरत की बाजार बंद हुई है. मोहब्बत की दुकानें खुली है.

भले ही बीजेपी ने गांधी परिवार पर भरपूर हमले किए हों.लेकिन ऐसे में कर्नाटक विधानसभा चुनाव की ये जीत कांग्रेस के लिए बेहद महत्वपूर्ण हो जाती है. इसे राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की मेहनत का नतीजा भी कहा जा सकता है. क्योंकि दोनों ने पार्टी को जीत दिलाने के लिए बहुत ही संयम से काम लिया...34 साल में ये पहली बार है जब किसी पार्टी को इतनी ज्यादा सीट मिली हैं.... इससे पहले 1978 में कांग्रेस ने ही 178 सीटें जीती थीं. कांग्रेस की इतनी बड़ी जीत हासिल करने पर पार्टी नेता 'भारत जोड़ो यात्रा' को भी श्रेय दे रहे हैं... देखा जाए तो भारत जोड़ो यात्रा के बाद राहुल का पहला बड़ा चुनावी टेस्ट कर्नाटक में होना था.... खबर के मुताबिक 

राहुल की भारत जोड़ो यात्रा कर्नाटक में 21 दिन चली और 7 जिलों से गुजरी.

रायचूर, बेल्लारी, चित्रदुर्ग, तुमकुर, मांड्या, मैसूर, चामराजनगर 

इन जिलों में 48 विधानसभा सीटें हैं. इनमें से 32 सीटें कांग्रेस ने जीत ली हैं. 

2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने इन 7 जिलों की 48 विधानसभा सीट में से सिर्फ 15 पर जीत दर्ज की थी

वहीं बीजेपी ने 17, जेडीएस ने 14 और अन्य ने 2 सीटें जीती थीं.

इस बार कांग्रेस ने इन 48 सीटों में से 32 पर जीत दर्ज की है. यानी 2018 के मुकाबले दोगुना सीटें हासिल हुईं.

 

अगर रैली और रोड शो की बात करें तो कर्नाटक के 31 जिलों में  राहुल गांधी ने 20 जिलों में 23 रैली और दो रोड शो किए. जहां कांग्रेस ने ज्यादातर सीटें जीतीं. राहुल गांधी का 65 प्रतिशत का स्ट्राइक रेट रहा 

प्रियंका ने 18 जिलों में 15 रैली और 11 रोड शो किए. प्रियंका के रोड शो ने राज्य की जनता का ध्यान आकर्षित किया और इन ज्यादातर सीटों पर कांग्रेस का परचम लहराया. प्रियंका गांधी का स्ट्राइक रेट 60 फीसदी से ज्यादा का रहा 

PM मोदी ने राज्य के 19 जिलों में 18 रैलियां और 6 रोड शो किए. उन जिलों में 164 विधानसभा सीटें हैं. बीजेपी 91 सीटें हार गई. PM मोदी का स्ट्राइक रेट 39 प्रतिशत का रहा है.

 

कर्नाटक चुनाव में ध्रुवीकरण का मुद्दा खूब उठा था...बीजेपी से लेकर कांग्रेस और जेडीएस तक ने खूब ध्रुवीकरण की कोशिश की...इतना ही नहीं चुनाव से पहले कर्नाटक में हिजाब, हलाल और फिर मुस्लिम आरक्षण का मुद्दा चर्चा में रहा......चुनाव आते ही कांग्रेस ने बजरंग दल पर बैन का वादा करके नए सिरे से ध्रुवीकरण करने की कोशिश की...बीजेपी ने इसे बजरंग बली से जोड़ा, लेकिन ये दांव काम नहीं आया...बाद में द केरल स्टोरी भी चुनावी मुद्दा बना रहा....इन सबके बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी प्रचार के लिए पहुंचे थे... सीएम योगी का हिंदुत्व ब्रांड भी कारगर साबित नहीं हो पाया.

CM योगी दो बार ही कर्नाटक में चुनाव प्रचार के लिए गए

पहली बार 30 अप्रैल को  

4 विधानसभा सीटों में रैली 

दूसरी बार 6 मई को 

5 विधानसभा सीटों में रैली और रोड शो

स्ट्राइक रेट 27 प्रतिशत रहा

 

इस तरह से कुल नौ विधानसभा क्षेत्र में CM योगी पहुंचे....इनमें से केवल दो पर ही बीजेपी को जीत मिली है....अब कर्नाटक चुनाव का रिजल्ट आ चुका है....प्रचंड बहुमत के साथ कांग्रेस सरकार बना रही है... कौन अब मुख्यमंत्री बनता है... ये देखने वाली बात होगी.

कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!