जानिए क्या सच में स्वीडन में शुरू हो रही है 'सेक्स चैंपियनशिप'?

Home   >   खबरमंच   >   जानिए क्या सच में स्वीडन में शुरू हो रही है 'सेक्स चैंपियनशिप'?

116
views

वैसे तो सोशल मीडिया पर अक्सर बहुत हैरान कर देने वाली खबरें आती रहती हैं, लेकिन हाल ही में जो खबर यूरोपीय देश स्वीडन से आई है, वो वाकई हैरान करने वाली है। इंटरनेट पर पिछले कुछ दिनों पहले ये खबर फैली कि स्वीडन ने सेक्स को स्पोर्ट्स का दर्जा दे दिया है और बहुत जल्द ही वहां एक ‘सेक्स चैंपियनशिप’ होने वाली है। इसके बाद तो दुनियाभर के लोग ये जानकर एक्साइटेड हो गए...इंडिया में भी इसका असर देखने को मिला। लेकिन किसी ने भी ये नहीं सोचा कि सेक्स को स्पोर्ट्स कैसे मान लिया गया और अगर मान भी लिया तो इस चैंपियनशिप का टेलीकॉस्ट कौन और कैसे करेगा?

एक रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ दिनों पहले स्वीडन में सेक्स चैंपियनशिप 8 जून से शुरू होने की बात सामने आई थी, जो कई दिनों तक चलने वाली थी, इस चैंपियनशिप में 20 देशों के प्रतियोगियों के शामिल होने की बात कही जा रही है और दावा किया गया कि इसमें हर प्रतियोगी को अपनी परफॉर्मेंस को दिखाने के लिए 45 मिनट से 1 घंटे तक का समय दिया जाएगा। इसके अलावा प्रतियोगियों को परफॉर्मेंस के लिए हर दिन 6 घंटे का वक्त मिलेगा और इस चैंपियनशिप का विनर 3 ज्यूरी और ऑडियंस रेटिंग से चुना जाएगा।  

खैर ये तो हो गई वो जानकारी जो सोशल मीडिया पर वायरल है...अब इस खबर में कितनी सच्चाई है...वो हम आपको बता देते हैं। स्वीडन के न्यूज आउटलेट गोटरबोर्ग्स-पोस्टेन के मुताबिक ये खबर फेक है। वहां के स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेशन ने भी ऐसे किसी इवेंट से इनकार किया है।

स्वीडिश स्पोर्ट्स कंफेडरेशन की प्रवक्ता आना जेत्समान ने एक इंटरव्यू में कहा कि ये जानकारी गलत है। फिलहाल कुछ अंतरराष्ट्रीय मीडिया में स्वीडन और स्वीडिश खेलों को लेकर गलत खबर फैलाई जा रही है। इसका हम प्रबलता से खंडन करते हैं।

स्वीडन में सेक्स चैंपियनशिप होने की बात पूरी दुनिया में कैसे फैली ये भी आपको बता देते हैं। दरअसल, स्वीडन के एक मीडिया आउटलेट के मुताबिक, देश में एक फेडरेशन ऑफ सेक्स है और इसके प्रमुख ड्रैगन ब्रैक्टिक ने सेक्स चैंपियनशिप आयोजित करने की योजना बनाई थी। इसका उद्देश्य इंसानों के फिजिकल और मेंटल हेल्थ पर सेक्स का असर समझाना था। चैंपियनशिप आयोजित कराने के लिए ड्रैगन ब्रैक्टिक ने स्वीडन के नेशनल स्पोर्ट्स फेडरेशन NSF से परमीशन मांगी।

रिपोर्ट के मुताबिक, NSF के चीफ बीजार्न एरिक्सन परमीशन न देते हुए कहते हैं कि ये हमारी अपेक्षाओं से मेल नहीं खाता। मैं आपको बता दूं कि इस आवेदन को खारिज कर दिया गया है। हमारे पास और भी काम हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!