Loksabha Election 2024: ‘शहजादे’ का मतलब जानते हैं आप ?

Home   >   खबरमंच   >   Loksabha Election 2024: ‘शहजादे’ का मतलब जानते हैं आप ?

25
views

चुनावी शोर में पक्ष और विपक्ष के नेता एक-दूसरे के खिलाफ जमकर शहज़ादा और शहंशाह इन दो शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि लोकतंत्र में इन शब्दों के कोई मायने नहीं हैं। क्योंकि इनका रिश्ता राजशाही से है। ऐसे में इन दोनों शब्दों के असल मायने क्या हैं और इन शब्दों का पहली बार इस्तेमाल कहां हुआ ये भी जानते हैं।

इस बार के लोकसभा चुनाव में असल मुद्दों का दबदबा कम होता जा रहा है। विकास, महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दें पीछे छूटते जा रहे हैं। चुनावी माहौल में कुछ ऐसे शब्द हैं जिनका इस्तेमाल बार-बार इस तरह किया जा रहा है कि वो आम जनता की जुबान पर हैं और चर्चा का विषय बने हुए हैं और इन्हीं शब्दों में से एक शब्द है शहजादा। पीएम मोदी और बीजेपी कांग्रेस नेता राहुल गांधी को शहजादा कहकर संबोधित कर रहे हैं। तो वहीं प्रियंका गांधी ने भी पलटवार करते हुए पीएम मोदी को ‘शहंशाह’ बताया। इन दोनों नेताओं की इस बहस के बीच जो शब्द जनता के बीच जगह बना रहा है वो है शहजादा। सबसे पहले आपको बताते हैं आखिर ये शब्द आया कहां से शहज़ादा मतलब है बादशाह का बेटा या राजा का उत्तराधिकारी या अंग्रेजी में कहें तो प्रिंस। इसे शहज़ादा और शाहज़ादा दोनों कहा जाता है। लेकिन ज्यादातार लोग शहज़ादा ही कहते हैं जो फ़ारसी शब्द शाहज़ादेह से बना। दरअसल, फ़ारसी में शाह का मतलब राजा और जादा का मतलब बेटा होता है। फ़ारसी शब्द शाहज़ादेह को कई बार शाहज़ादह भी लिखा जाता है। शाहज़ादा शब्द का इस्तेमाल ईरान में भी किया जाता था, जिसका मतलब होता था ईरानी शाही घराने के शाह का बेटा। वहीं शाह एक शाही उपाधि थी। जिसका इस्तेमाल ईरानी राजशाही के खास लोग करते थे। इसके अलावा इस शब्द का इस्तेमाल ओटोमन सम्राज्य में भी किया जाता था।

शहज़ादा शब्द का मुगलों से क्या रिश्ता ?

इससे मिलते-जुलते कई शब्द प्रचलित हैं जैसे अमीरज़ादा, नवाबज़ादा, पीरज़ादा। फ़ारसी में शहज़ादे शब्द का इस्तेमाल महिला और पुरुष दोनों के लिए किया जाता है। मुगलों ने पुरुषों के लिए शहज़ादे और महिलाओं के लिए शहज़ादी शब्द का इस्तेमाल शुरू किया। उर्दू में भी शहज़ादा और शाहजादा दोनों शब्दों का इस्तेमाल होता है। मुगल दरबार में फ़ारसी शब्दों का इस्तेमाल बहुत होता था। धीरे-धीरे इसके साथ-साथ हिन्दी शब्दों का इस्तेमाल भी शुरु हो गया। इतना ही नहीं, रोजमर्रा की बातचीत में भी इस शब्द का इस्तेमाल अक्सर तंज के तौर पर किया जाता है। आपने कई बार लोगों को ये कहते हुए सुना होगा कि तुम कहीं केशहज़ादे हो क्या ? हालांकि शहज़ादा और शहंशाह शब्द का फिल्मों से भी कनेक्शन रहा है।

कई फिल्में भी आई 

शहज़ादा नाम से कई फिल्में भी आई हैं। 1972 में एक्टर राजेश खन्ना की शहज़ादा नाम से एक फिल्म रिलीज हुई थी। राजेश खन्ना की ये फिल्म एक तमिल फिल्म की रीमेक थी जिसमें राखी हीरोइन थीं। फिर 2023 में कार्तिक आर्यन की भी एक फिल्म आई जिसका नाम शहज़ादा था। कार्तिक आर्यन की ये फिल्म सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की एक तेलगु फिल्म की रीमेक थी। जिसमें कार्तिक के साथ कृति सेनन हीरोइन थीं। इसके अलावा साल 1988 में एक्टर अमिताभ बच्चन की शहंशाह नाम से फिल्म आई थी। तो अगली बार जब आप किसी से शहज़ादा शब्द पर चर्चा करें तो आपके पास इस शब्द से जुड़ी सारी जानकारी होगी जो आपकी चर्चा को और दिलचस्प बना देगी। 

पिछले 12 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं। वैश्विक और राजनीतिक के साथ-साथ ऐसी खबरें लिखने का शौक है जो व्यक्ति के जीवन पर सीधा असर डाल सकती हैं। वहीं लोगों को ‘ज्ञान’ देने से बचता हूं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!