अच्छी नींद के लिए लविंग पार्टनर है जरुरी

Home   >   मंचनामा   >   अच्छी नींद के लिए लविंग पार्टनर है जरुरी

109
views

अच्छी नींद के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते, नींद की गोलियां खाते हैं। कुछ लोग तो शराब तक का सहारा लेते है, लेकिन क्या आपको पता है एक अच्छी नींद के लिए इन सहारों की जरुरत नहीं, अगर आप अपना रिश्ता अपने पार्टनर के साथ सही रखते हैं तो ये भी आपको अच्छी में मदद करता है, हम ये कोई फिलासफिकल बात नहीं कर रहे हैं, बल्कि स्टडी ऐसा कहती है।

 टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में शादीशुदा लोगों पर रिसर्च में ये जिक्र मिलता है कि अच्छी नींद के लिए लविंग पार्टनर का होना जरुरी है, अगर पार्टनर लविंग नहीं है तो ये आपकी नींद पर प्रभाव डालेगा। यानी कि शादीशुदा कपल्स के लिए कहा जा सकता है कि अगर आपका रिश्ता आपके पार्टनर के साथ सही नहीं है तो इससे आपकी नींद पर असर पड़ेगा।

 रिलेशनशिप और नींद का आपसी मेल कितना गहरा है, इसपर यूनिवर्सिटी ऑफ तुर्की ने 700 मैरिड कपल्स पर रिलेशनशिप को लेकर रिसर्च की थी, जिसमें भी ये बात सामने आई थी कि अच्छी नींद के लिए लविंग पार्टनर जरूरी है।

 उन्होंने रिसर्च में बताया कि तनाव और चिंता से परेशान कपल्स को अपने पार्टनर के साथ की वजह से अच्छी व गहरी नींद आई। मतलब कि अगर पार्टनर केयरिंग और लविंग है तो नींद की समस्या सहजता से दूर हो जाएगी। साथ नींद की क्वालिटी भी सुधर सकती है। रिसर्च में ये बात भी सामने आई कि सुरक्षा महसूस होने पर नींद की समस्या नहीं होती। मतलब अगर आप रिश्ते में सुरक्षित महसूस करते हैं तो ऐसे में क्वालिटी नींद आती है। रिसर्चर ने इसके पीछे ये लॉजिक दिया है कि हम बचपन में माता-पिता के साथ सुरक्षित महसूस करते हैं। इसकी वजह से ही हम छोटे होने पर अच्छी नींद के साथ सो पाते हैं। लेकिन बड़े होने पर ये काम पार्टनर पर निर्भर करता है। इसलिए अच्छी नींद के लिए रोमांटिक रिलेशनशिप और केयरिंग पार्टनर का होना भी जरूरी है।

 लेकिन ये रिसर्च विश्व में हर जगह सहीं साबित हो, जरुरी नहीं है। क्योंकि जापान में मैरिड कपल्स अलग-अलग कमरे में सोना पसंद करते हैं, हालांकि इसके पीछे की वजह मन-मुटाव नहीं बल्कि रिश्ते मजबूत बनाना ही है। जापानी वेबसाइट गाइड ने इसको लेकर साल 2017 में 20 साल से लेकर 69 साल तक के 1662 कपल्स पर स्टडी की तो पता चला सिर्फ 29.2 परसेंट कपल्स ही एक कमरे में एक बेड पर सोते थे।

रिसर्च में इसके कारण भी निकलकर सामने आए जिसमें बताया गया कि लोगों के सोने और जागने का वक्त अलग अलग है। साथ सोने पर अगर दोनो में से किसी को पहले जागना है तो दूसरे की नींद खराब होगी, तो ऐसे में उनका मानना है कि एक अच्छी नींद फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए कितनी जरुरी है। और एक रीजन ये भी है कि जापान में बच्चे मां के साथ सोते हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!