रामायण पर फिल्म बनाना एस.एस. राजामौली की ज़िंदगी का मकसद

Home   >   रंगमंच   >   रामायण पर फिल्म बनाना एस.एस. राजामौली की ज़िंदगी का मकसद

87
views

महाभारत पर फिल्म बनाना अगर किसी डायरेक्टर की जिंदगी का उद्देश्य हो और वो डायरेक्टर खुद एसएस राजामौली हों, तो फैंस के लिए फिल्म में दिलचस्पी अपने आप ही बढ़ जाती है। हाल ही में एसएस राजामौली ने एक इंटरव्यू के दौरान महाभारत पर फिल्म बनाने को लेकर जवाब दिए और साथ ही बाहुबली द बिगनिंग की रिलीज के समय वो वक्त कैसे उनकी जिंदगी का सबसे डिप्रेसिंग मूमेंट था, ये बात भी शेयर किया ।

आरआरआर और बाहुबली जैसी फिल्में बनाने वाले डायरेक्टर एस एस राजामौली परिचय के मौहताज नहीं हैं। हाल में जब उनसे पूछा गया कि मीडिया में चर्चा है कि आप महाभारत पर फिल्म बनाने के बारे में सोच रहें हैं, इस बात मे कितनी सच्चाई है।

तब उन्होंने बताया- ये बहुत ही ह्यूज प्रोजेक्ट होगा, अगर मैं इसे बनाने की बात करुं, तो मुझे पहले मौजूदा सारे संस्करणों को पढ़ना होगा। जिसमें एक साल या उससे भी ज्यादा समय लग जाएगा।

साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि इस वक्त वो सिर्फ ये ही कह सकते हैं कि महाभारत को वो 10 फिल्मों या पार्ट्स में ही बना पाएगें।

फिर जब इंटरव्यूअर डॉ. गौरव रेड्डी ने अपने अंदाज में पूछा कि आगे क्या....तो राजामौली कहा- मैं जो भी फिल्म बनाता हूं, मुझे लगता है उससे मैं महाभारत बनाने के लिए कुछ नया सीख रहा हूं। महाभारत बनाना मेरा ऐम ऑफ लाइफ है।

राजामौली ने अपनी जिंदगी के अब तक के सबसे डिप्रेसिंग मूमेंट को भी शेयर किया कि बाहुबली द बिगनिंग जोकि पहली पैन इंडिया रिलीज फिल्म थी, उस समय लोगों ने बात करना शुरु किया कि यें फिल्म इंडस्ट्री का सबसे बड़ा डिजास्टर होगा। फिल्म के प्रोडयूसर्स ने उनपर रिलीज से पहले 3 तीन साल तक भरोसा जताया था और अगर फिल्म न चलती तो वो इससे उन्हें कैसे ऊभर पाते, इसलिए वो उनकी जिंदगी का सबसे डिप्रेसिंग मूमेंट था।  

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!