अब आंखों की हर बीमारी का होगा इलाज! IIT कानपुर ने दिया जीन थेरेपी का लाइसेंस

Home   >   आरोग्य   >   अब आंखों की हर बीमारी का होगा इलाज! IIT कानपुर ने दिया जीन थेरेपी का लाइसेंस

187
views

अरबपति मुकेश अंबानी का ग्रुप अब एक और बिजनेस में पकड़ मजबूत करने के लिए तैयार है. रिलायंस इंडस्ट्रीज जेनेटिक मैपिंग में शामिल हो रहा है. जेनेटिक मैपिंग कुछ डिजीज और कैंसर जैसी बीमारियों का पता करने में फायदेमंद हो सकता है इसके लिए तैयारियां भी शुरु हो गई है  IITKanpur ने रिलायंस लाइफ साइंसेज़ को आंखों की जेनेटिक बीमारियों से निपटने के लिए जीन थेरेपी की टेक्नोलॉजी ट्रांसफर की है.... देश में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी अकैडमिक इंस्टिट्यूट से किसी कंपनी को टेक्नोलॉजी ट्रांसफर हुई है. रिलायंस लाइफ साइंसेज़ इस टेक्नॉलजी को आगे विकसित करेगी और आंखों की जेनेटिक डिजीज से निपटने के लिए जीन थेरेपी वरदान साबित होगी.


जीन थेरेपी न्यूरो-डिजनरेटिव बीमारियों और कार्डियेक रिस्क समेत अन्य कई बीमारियों में भी लाभदायक साबित हो सकती है...IIT कानपुर ने हाथ बढ़ाते हुए रिलायंस लाइफ साइंसेज को एक लीड टेक्नोलॉजी का लाइसेंस दिया है...जिसमें जीन थेरेपी, विशेष रूप से कई जेनेटिक नेत्र रोगों के क्षेत्र में क्रांति लाने की क्षमता है.


क्या है जीन थेरेपी ?


जीन थेरेपी DNA Technology के सबसे शक्तिशाली Applications में से एक है, जिसमें कई सोर्सों से DNA के टुकड़ों को Skillfully Defective जीन की Healthy Copy को वितरित करने के लिए जोड़ा जाता है.
इसे ऐसे जोड़ा जाता है कि पेश किए गए जीन से Protein Production जीवन के लिए बनाए रखा जाता है. इसे Capable करने के लिए Therapeutic डीएनए Molecule को एक वायरस का यूज करके डिलीवर किया जाता है. जो Human Cells को संक्रमित कर सकता है. सफल क्लीनिकल प्रयोग के लिए, वांछित जीन की Sufficient स्टेटमेंट सुनिश्चित करने के उद्देश्य से Root System के कई Customization की आवश्यकता है.


रिलायंस लाइफ साइंसेज क्लीनिकल जरूरतों को पूरा करने के लिए कई जीन थेरेपी आधारित प्रोडक्ट विकसित कर रही है. जीन थैरेपी के अलावा, रिलायंस लाइफ साइंसेज मानव और पशु स्वास्थ्य टीकों और mRNA उत्पादों की एक श्रृंखला विकसित कर रही है. जीन और सेल थैरेपी प्रोडक्ट्स की एक नई और Innovative Section का Representation करते हैं, जिसका Purpose बायोसिमिलर और फार्मास्युटिकल प्रोडक्ट्स में रिलायंस लाइफ साइंसेज की भूमिका को मजबूत करना है.


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जीन थेरेपी जिसका भविष्य उज्ज्वल है और लोगों के जीवन पर पॉजिटिव प्रभाव डालने का वादा करता है. रिलायंस लाइफ साइंसेज को कानपुर IIT से जीन थेरेपी तकनीक का लाइसेंस देना जीन थेरेपी के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम का Representation करता है आपको बता दें रिलायंस इंडस्ट्रीज स्ट्रैंड लाइफ साइंसेज लगातार अब इस सेक्टर पर अपनी मजबूती कर रही है.

हाल ही में आई ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज स्ट्रैंड लाइफ साइंसेज 12,000 रुपए का व्यापक जीनोम सिक्वेंसिंग टेस्ट शुरू करेगी. देखा जाए तो मेडिकल साइंस लगातार नई उपलब्धियां हासिल कर रहा है....जिसने लोगों की जिंदगी को आसान बनाया है. जिसका फायदा आने वाले दिनों में और ज्यादा देखने को मिलेगा. बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने स्ट्रैंड लाइफ साइंसेज प्राइवेट में हिस्सेदारी खरीदी थी और अब इसके पास 80 फीसदी हिस्सा है,

 
कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!