जापान के लोगों को पसंद आ रही ‘वीकेंड मैरिज’

Home   >   मंचनामा   >   जापान के लोगों को पसंद आ रही ‘वीकेंड मैरिज’

216
views

 

जन्म-जन्म का साथ, सातों वचनों को निभाने की कसमें, हर जन्म में एक ही जीवनसाथी मिलने की दुआएं, साथ जीने-मरने की बातें, इंडिया के कपल्स में ये कसमें-वादे सदियों से चले आ रहे हैं। लेकिन जापान के इन दिनों शादी करने का ट्रेंड बदल रहा है। वहां के लोगों में वीकेंड मैरिज का चलन तेजी से बढ़ रहा है। क्या है वीकेंड मैरिज और क्यों जापान के यंगस्टर्स को ये मैरिज पसंद आ रही है वो भी जान लेते हैं।

वीकेंड या सेपरेशन मैरिज का मतलब है कि शादीशुदा होने के बाद सिंगल रहने की फीलिंग। जापान के लोगों का मानना है कि इससे भावनात्मक लगाव तो बना ही रहता है। साथ ही आपको एक ऐसा जीवन साथी मिल जाता है, जिसपर आंख मूंदकर आप भरोसा कर सकते हैं। वीकेंड मैरिज के बाद वहां के लोग अपने-अपने घरों में रहते हैं। एक-दूसरे से वीकेंड पर ही मिलते हैं और अपनी भावनाएं एक-दूसरे से शेयर करते हैं। इसके साथ ही पारिवारिक जिम्मेदारियां भी बांटते हैं, लेकिन हमेशा साथ नहीं रहते।

जापान में वीकेंड मैरिज का बढ़ता ट्रेंड महिलाओं को ज्यादा पसंद आ रहा है। उनका मानना है कि शादी की व्यवस्था में महिलाओं को ज्यादा समझौते करने पड़ते हैं। हालांकि वीकेंड मैरिज के बाद वहां के लोगा का कुछ नुकसान भी है।

वीकेंड मैरिज के नुकसान

- बच्चे की परवरिश में पति का साथ न मिलना।

- दोनों कपल्स का आत्मनिर्भर होना जरूरी होता है।

- पुरुषों को खाना बनाने से लेकर कपड़े धोने तक सारा काम खुद करना पड़ता है।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!