पीएम मोदी ने बनारस को दी गंगा क्रूज़ की सौगात, जानें किराए से लेकर क्या हैं खासियत ?

Home   >   खबरमंच   >   पीएम मोदी ने बनारस को दी गंगा क्रूज़ की सौगात, जानें किराए से लेकर क्या हैं खासियत ?

236
views

सर्वविद्या की राजधानी काशी की मनोहर, सांस्कृतिक छवि को आधुनिक तौर पर को खुबसूरत बनाने के लिए  गंगा क्रूज़ और टेंट सिटी की सौगात प्रधानमंत्री ने दी है। वीडियो कॉंफ्रेसिंग के जरिए प्रधानमंत्री ने गंगा रिवर क्रूज़ और टेंट सिटी का लोकार्पण किया है। इसके साथ ही भारत में विश्व के अद्भुत क्रूज टूरिज्म की शुरुआत हो चुकी है. इसका नाम है गंगा विलास... ये दुनिया का सबसे लम्‍बा रिवर क्रूज है. खासतौर पर ये विदेशी पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण होगा और क्या कुछ इसकी खासियतें है जानते हैं। गंगा विलास काशी से डिब्रूगढ़ के बीच 50 दिनों में 3,200 किलोमीटर का सफर तय करेगा. ये कई कई मायनों में खास भी होगा.

'गंगा विलास' का रूट

गंगा, भागीरथी, हुगली, ब्रह्मपुत्र होते हुए वेस्ट कोस्ट नहर सहित 27 नदियों को कवर करेगा। इसका रूट करीब लगभग 3,200 किलोमीटर का होगा। काशी से डिब्रूगढ़ के बीच  50 पर्यटक स्‍थलों से होकर गुजरेगा। पहले सफर में 32 स्विस नागरिक शामिल होंगे। विरासत स्थल, वाराणसी में प्रसिद्ध गंगा आरती और काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और सुंदरवन डेल्टा जैसे अभयारण्य को भी कवर करेगा। पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश में लगभग 1,100 किमी की यात्रा करेगा। ये कई हाइटेक सुविधाओं से लैस है। यात्र‍ियों के लिए यह सफर ऊबाऊ न हो इसके लिए कई इंतजाम किए गए हैं। गंगा विलास के ओनर राज सिंह के मुताबिक, सफर में क्रूज पर म्‍यूजिकल और डांस प्रोग्राम्स समेत कई तरह के कल्‍चरल प्रोग्राम होंगे। स्‍टडी रूम और आधुनिक लाइब्रेरी की व्‍यवस्‍था होगी। स्‍पा, सैलून और एंटरटेनमेन जोन भी बनाया गया है। प्राकृतिक खूबसूरती के लिए ओपन स्‍पेस बालकनी बनाई गई है। इतना ही नहीं इस क्रूज में इंडोर गेम्‍स खेले जा सकेंगे। इसके अलावा कई तरह के भारतीय व्‍यंजनों को परोसा जाएगा। सफर करने वाले यात्र‍ियों को उत्तर प्रदेश के ODOP और जीआई टैग वाले उत्‍पादों से रूबरू कराया जाएगा। इसके अलावा लकड़ी के खिलौने, गाजीपुर का वॉल हैंगिंग समेत क्रूज कई तरह के भारतीय उत्‍पादों से डेकोरेट रहेगा। क्रूज के कई हिस्‍सों में भारतीय हस्तशिल्पियों के हुनर की छाप दिखेगी। क्रूज की लम्‍बाई 62 मीटर और चौड़ाई 12.8 मीटर चौड़ाई है। गंगा विलास क्रूज में जिम, स्पा सेंटर, लेक्चर हाउस, लाइब्रेरी है। क्रूज की सवारी के लिए आपको हर दिन का किराया 25000-50000 रुपये देना होगा। यानी एक आदमी अगर 51 दिन का सफर करता है, तो उसे लगभग 25 लाख रुपये देने होंगे. GFX-IN ये किराया डॉलर्स में आंके तो लगभग 12,280$ होगा। गंगा विलास अपने 21-51 दिनों के सफर मे 3 रास्तों से गुजरेगा, जिसमें 36 गेस्ट शामिल हो सकेंगे। दो फ्लोर में 18 केबिन बनाए गए है, फर्स्ट फ्लोर में 10, ग्राउंड फ्लोर में 8 केबिन होंगे। जिम, मसाज, रेस्तरां जैसी खास सुविधाएं भी क्रूज़ में मौजूद हैं। 1950 के दशक के आर्ट की सजावट की गई है. जो 1947 में पार्टीशन के बाद हुई थी। गंगा विलास के रंग की बात करें, तो इसका कलर मैजेंटा और शांत ब्लू से चमकदार पीले रंग का है

गंगा विलास की यात्रा सिर्फ एक लग्जरी क्रूज की यात्रा के साथ ही भारत दर्शन का वो अनुभव होगा जब भारत में लोग नदियों के रास्ते ही सफर किया करते थे। विदेशी पर्यटकों के लिए नदियों के रास्ते देश की संस्कृति और धरोहर को समझने का भी मौका मिलेगा। 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!