जवाहर लाल नेहरू-इंदिरा गांधी के रिकॉर्ड पर पीएम नरेंद्र मोदी ने लगाया निशाना !

Home   >   चुनावपुर   >   जवाहर लाल नेहरू-इंदिरा गांधी के रिकॉर्ड पर पीएम नरेंद्र मोदी ने लगाया निशाना !

23
views

लोकसभा चुनाव में 370 पार का टारगेट लेकर चल रही बीजेपी ने चुनावी बिसात पर अपने मोहरे सजाना शुरू कर दिया है। 195 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी सीट से तीसरी बार चुनाव लड़ने का ऐलान हो चुका है। इस ऐलान के साथ ही उनके नाम एक और अनोखा रिकॉर्ड भी जुड़ गया है। नरेंद्र मोदी देश के ऐसे तीसरे प्रधानमंत्री होंगे, जो एक ही सीट से लगातार तीसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। इससे पहले पंडित जवाहर लाल नेहरू तीन बार प्रयागराज की फूलपुर सीट से और इंदिरा गांधी चार बार रायबरेली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ चुकी हैं।

देश की आजादी के बाद उत्तर प्रदेश की संसदीय सीटों से चुनाव जीत कर 8 राजनेता प्रधानमंत्री बने। इनमें पंडित जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, चौधरी चरण सिंह, राजीव गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह, चंद्रशेखर, अटल बिहारी वाजपेयी और पीएम मोदी वाराणसी से लगातार दो बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। 2024 में लगातार तीसरी बार वो काशी की जनता के बीच होंगे। गणतंत्र की स्थापना के बाद 1950 से 1952 के बीच नेहरू बतौर कार्यवाहक प्रधानमंत्री रहे। 1952 में जब पहली बार लोकसभा चुनाव हुए, तो फूलपुर सीट से चुनाव लड़े और जीते भी। उन्हें 1957 और 1962 के लोकसभा चुनाव में भी फूलपुर सीट से जीत मिली। इसके बाद पंडित नेहरू की विरासत संभालते हुए इंदिरा गांधी इस मामले में सबसे आगे हैं। 

इंदिरा गांधी 

इंदिरा गांधी रायबरेली लोकसभा सीट से चार बार चुनाव लड़ चुकी हैं। वो 1967 के लोकसभा चुनाव में इंदिरा गांधी पहली बार रायबरेली से चुनाव लड़ीं और जीती भी। इसके बाद 1971, 77 और 80 में भी चुनाव लड़ीं। लेकिन आपतकाल के बाद 1977 में हुए आम चुनाव में रायबरेली की जनता ने इंदिरा को नकारकर जनता पार्टी के राजनारायण पर भरोसा जताया था। हालांकि, 1980 में फिर चुनाव जीत गईं।

नरेंद्र मोदी

वहीं नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए 2014 में पहली बार बाबा भोलेनाथ की नगरी काशी से चुनाव लड़े और जीतकर प्रधानमंत्री बने। उनके खिलाफ आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल चुनाव लड़े थे और दूसरे नंबर पर रहे। जबकि कांग्रेस के अजय राय तीसरे और बसपा चौथे नंबर पर रही। मोदी को 32.89 प्रतिशत वोट मिले। जबकि केजरीवाल को सिर्फ 11.85 फीसदी वोट मिले थे। इसके बाद मोदी साल 2019 में भी प्रधानमंत्री रहते फिर चुनाव लड़े और जीत गए। 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा ने मिलकर बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ा। इस चुनाव में पीएम मोदी को पहले से भी ज्यादा 6 लाख 74 हजार 664 वोट मिले और वोट फीसदी 63.6 प्रतिशत रहा। सपा की शालिनी यादव दूसरे नंबर पर रहीं, उन्हें कुल 1 लाख 95 हजार 159 वोट मिले और वोट 18.4 प्रतिशत रहा। तीसरे नंबर पर कांग्रेस के अजय राय रहे, उन्हें 14.38 प्रतिशत वोट के साथ कुल 1 लाख 52 हजार 548 वोट मिले। एक बार फिर वो वाराणसी सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

तीसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक और रिकॉर्ड जुड़ने वाला है। पीएम मोदी वाराणसी से तीसरे सांसद हैं, जो सांसद रहते हुए तीसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। पीएम मोदी से पहले रघुनाथ सिंह 1952, 57, 1962 और 1967 में सांसद रहते हुए चुनाव लड़े थे। वो 1967 में हार गए थे। इसके बाद 1996, 1998, 1999 में सांसद रहे तत्कालीन सांसद शंकर प्रसाद जायसवाल 2004 में भी चुनाव लड़े थे, लेकिन वो कांग्रेस के डॉ. राजेश मिश्र से हार गए थे। पीएम मोदी के वाराणसी से चुनाव लड़ने के बाद से काशी अब दिव्य और भव्य हो गई है। पीएम मोदी के कार्यकाल में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, सेंट्रल विस्टा रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट, महात्मा मंदिर, साबरमती रिवरफ्रंट जैसे कई बड़े प्रोजेक्ट भी आए हैं। ऐसे में उनके सामने सपा-कांग्रेस के गठबंधन प्रत्याशी का मुकाबला होगा।  

पिछले 10 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं। वैश्विक और राजनीतिक के साथ-साथ ऐसी खबरें लिखने का शौक है जो व्यक्ति के जीवन पर सीधा असर डाल सकती हैं। वहीं लोगों को ‘ज्ञान’ देने से बचता हूं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!