Pooja Saini ने पुलिस की गिरफ्त में खोले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के राज

Home   >   खबरमंच   >   Pooja Saini ने पुलिस की गिरफ्त में खोले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के राज

41
views

साल 2018 की बात है. दो बहनें, जो कोटा की रहने वाली होती है. एक बहन का एडमिशन जयपुर के एक कॉलेज में B.Sc फर्स्ट ईयर में होता है. जबकि दूसरी छोटी बहन कोटा में रहकर तैयारी कर रही होती है. उसी दरमियान उसके अच्छे स्वभाव के चलते कई लड़कियों से उसकी दोस्ती हो जाती है, एक दिन उसकी बहन उससे मिलने कोटा आती है. जहां उसको पता लगता है कि उसकी बहन की सहेली का ब्वॉयफ्रंड आया है और उसके साथ तीन और लड़के में भी आए है. जिसमें एक लड़के नाम होता है महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर, वहां सभी की आपस में बात होती है. साथ में खाते-पीते है और फिर सब चले जाते है. ये बात साल 2018 की थी, लेकिन करीब 2 साल यानी 2020 में लड़की जिसका नाम पूजा होता है. उसको फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आती है. वो एक्सेप्ट करती है और दोनों में बातचीत शुरु हो जाती है. धीरे-धीरे दोस्ती प्यार में कब बदल जाती है पता ही नहीं चलता, साथ जीने मरने की महेंद्र और पूजा कसम खाते है. पूजा पढ़ाई भी छोड़ देती है. फिर अगस्त 2022 में जयपुर के एक मंदिर में दोनों की शादी हो जाती है. दोनों जयपुर के जगतपुरा में एक किराये का घर लेकर रहने लगते है. आप सोच रहे होंगे की इस लव स्टोरी के बारे में हम बात क्यों कर रहे है दरअसल जयपुर में जो करणी सेना के नेता का मर्डर हुआ उस केस में पूजा सैनी का नाम सामने आया है. जिस तरह से फिल्म डॉन में उसकी सबसे खास रोमा होती है जो उसके हर गुनाह में शरीक होती है. कुछ वैसा ही काम पूजा सैनी भी अपने पति के लिए करती थी. जो लॉरेंस गैंग से जुड़ा हुआ था.

सुखदेव हत्याकांड में नाम आया सामने 
रिपोर्ट्स की मानें तो बदमाशों को हथियार की तस्करी के दौरान महेंद्र लग्जरी कार में पत्नी पूजा सैनी को साथ रखता था ताकि पुलिस या किसी अन्य शख्स को शक ना हो. लेकिन वो कहते हैं न क्राइम को कितने भी दिन छिपा लो एक न दिन सच सामने आ ही जाता है कुछ ऐसा ही हुआ पूजा सैनी और महेंद्र के साथ. जिसके बारे में आगे बात करते है लेकिन उससे पहले बात करतें है राजस्थान में गोगामेड़ी हत्यकांड की. जो 5 दिसंबर को राजधानी जयपुर में दोपहर करीब 1:45 बजे को अंजाम दिया गया. जिसमें बदमाशों ने राजस्थान के मशहूर नेता सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को 17 गोलियां मारकर हत्या कर दी. जिसकी जिम्मेदारी लॉरेंस के गुर्गे रोहित गोदारा ने ली, जो विदेश से अपना गिरोह संचालित करता है और अपने गुर्गों से गोगामेड़ी की हत्या कर दी. इन गुर्गों का सीधा कनेक्शन अब पूजा सैनी और महेंद्र मेघवाल से कनेक्शन निकलकर सामने आया है.

नितिन फौजी ने उगले पूजा के राज
दरअसल हुआ कुछ यूं था कि 28 नवंबर को एक लड़का जिसका नाम नितिन फौजी, जो की आर्मी में होता है, उसकी पोस्टिंग थी अलवर में होती है. लेकिन वो आता है हिसार और फिर सीधा आता है जयपुर के जगतपुरा, जहां पूजा और महेंद्र रह रहे होते है. वहां पूजा सारा खाने पीने का इंतजाम नितिन फौजी के लिए करती है जिसमें महेंद्र उसकी पूरी मदद करता है. ऐसे गुजरते गुजरते करीब कई दिन गुजर जाते है. फिर तारीख आती है 5 दिसंबर साल 2023, महेंद्र अपनी गाड़ी में बैठाकर नितिन फौजी को अपने साथ ले अजमेर रोड के पास एक जगह लगती है जिसका नाम डीसीएम है. वहां ले जाते है. जैसे ही वहां पहुंचता है तो पहले से ही रोहित राठौड़ नाम का एक व्यक्ति होता है. नितिन फौजी और रोहित दोनों को हथियार दिए जाते है. नितिन फौजी को 2 पिस्टल 2 मैगजीन और 50 हजार नगद दिए जाते है जबकि रोहित को एक पिस्टल एक मैग्जीन 50 हजार रुपये दिए जाते है यहां इन दोनों को लेकर नवीन शेखावत श्यामनगर लेकर जाता है. जहां श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह का घर होता है. वहां तीनों बैठते है. बातचीत कर रहे होते है तभी 17 गोलियां चलाई जाती है जिसमें 9 गोलियां सुखदेव को मारी, जबकि 7 गोलियां उस नवीन शेखावत को मारी जो इन्हें साथ लेकर आया था. गोली मारकर ये फरार हो जाते है. पुलिस लगातार जांच कर रही होती है तभी चंडीगढ़ से नितिन फौजी को गिरफ्तार कर लिया जाता है पुलिस पूछताछ करती है तो पूजा सैनी का नाम निकलकर सामने आता है जिनके घर पर नितिन फौजी रुकता है. अब पूजा सैनी की बात आती है तो पता लगता है की महेंद्र मेघवाल इसका पति है. जो कि कोटा का हिस्ट्रीशीटर है, जिस पर लूट, हत्या समेत डेढ़ दर्जन मामले दर्ज होते है. जब पुलिस मामले की जांच पड़ताल करती है तो पूजा पुलिस की गिरफ्त में आ जाती है जबकि महेंद्र भाग जाता है. पुलिस पूछताछ करती है तो पता लगता है कि वो एयरहोस्टेस का कोर्स कर रही थी. महेंद्र से उसकी शादी हुई है. जो कि अभी फरार है. पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है.

लॉरेंस बिश्नोई गैंग में एक्टिव पूजा सैनी
मीडिया रिपोर्ट्स में तो दावा है कि पूजा सैनी रोहित गोदारा और लॉरेंस बिश्नोई गैंग में एक्टिव है. वो काफी समय से राजस्थान में उनका काम संभाल रही है. लेडी डॉन पूजा पर पहले से भी कई मुकदमे दर्ज हैं. लेडी डॉन पूजा जयपुर में अपने पति महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर के साथ रह रही थी. महेंद्र भी हिस्ट्रीशीटर है, उस पर भी पहले से हत्या, मारपीट और तस्करी के मामले दर्ज हैं. पूजा के घर से पुलिस को कई फर्जी ID भी मिली हैं. हालांकि पुलिस पूजा सैनी को गिरफ्तार कर पूछताछ में जुटी है.
लेकिन इस कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में पूजा सैनी को लेकर नई जानकारी सामने आई है. लेडी डॉन पूजा सैनी टोंक जिले के अलीगढ़ कस्बे के माली मोहल्ले में रहने वाली है. पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी पूजा सैनी की शादी नहीं हुई है. पूजा सैनी का पिता चाय का ठेला लगाता है, जबकि उसकी मां मजदूरी करती है. ऐसा दावा है कि करीब 4 महीने पहले पूजा अलीगढ़ घर आई थी और आखिरी बार करीब 15 दिन पहले परिवार से उसकी बात हुई थी. गोगामेड़ी हत्याकांड में पूजा सैनी का नाम उजागर होने के बाद परिवार कैमरे के सामने बात करने को तैयार नहीं है. पूजा की गिरफ्तारी के बाद अब उसके मोहल्ले के लोग भी कुछ भी कहने को राजी नहीं हैं.

घर से पढ़ाई के लिए निकली बनी लेडी डॉन 
बताया जाता हैं कि घर से पढ़ाई के लिए निकली पूजा सैनी कब लेडी डॉन बन गई, इसका अहसास घर वालों को भी नहीं हुआ. सूत्र बताते हैं कि लेडी डॉन के नाम सुर्खियों में आई पूजा सैनी घर वालों को जॉब तलाश करने की बात कहकर जयपुर गई थी. पूजा की दोनों बड़ी बहनों की शादी लगभग 6 साल पहले हो चुकी है. वही पूजा के दो भाईयों में से एक भाई राम सैनी ड्राइवरी करता है, दूसरा भाई राजा सैनी मोबाइल शॉप पर काम करता है, टोंक जिले के अलीगढ़ क्षेत्र के माली मोहल्ले की पूजा सैनी के क्राइम वर्ल्ड में शामिल होने और सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों को हथियार की सप्लाई कराने जैसे जघन्य हत्याकांड में उसकी भूमिका को लेकर हर कोई हैरान है.

कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!