Ram Mandir : पत्नी सीता, भाई लक्ष्मण और भक्त हनुमान के साथ भव्य दरबार में बैठेंगे राजा राम

Home   >   धर्मस्य   >   Ram Mandir : पत्नी सीता, भाई लक्ष्मण और भक्त हनुमान के साथ भव्य दरबार में बैठेंगे राजा राम

18
views

22 जनवरी 2024 को अयोध्या के राम मंदिर में राम लला विराज चुके हैं। रोजाना लाखों भक्त दर्शन के लिए मंदिर जा रहे हैं। इसी बीच मंदिर में बचा हुआ निर्माण कार्य भी हो रहा है।

 

राम लला के दर्शन को हर रोज आ रहे लाखों भक्त 

अयोध्या का राम मंदिर। देश के करोड़ों लोगों के आस्था का प्रतीक। प्राण प्रतिष्ठा के बाद हर रोज लाखों भक्त अपने आराध्य राम लला के दर्शन करने जा रहे हैं। इसी के साथ मंदिर निर्माण का अधूरा काम भी जारी है। आने वाले दिनों में इसमें और भी तेजी आएगी। खबरों के मुताबिक मंदिर का निर्माण कार्य दिसंबर 2024 तक पूरा हो जाएगा। राम मंदिर की पहले तल में भगवान राम का भव्य दरबार बनाया जाएगा और पूरे परिसर में सप्त मंडपम भी बनाए जाएंगे।

प्रथम तल पर बन रहा भगवान राम का भव्य दरबार

नागर शैली में बने राम मंदिर में राम लला विराज चुके हैं। कुल 392 खंभों में टिके राम मंदिर में तीन मंजिलें हैं, और हर मंजिल की ऊंचाई 20 फीट है। मंदिर में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा हो चुकी है। आने वाले दिनों में मंदिर का अधूरा काम भी पूरा किया जाएगा। इसके संदर्भ में मंदिर के प्रथम तल पर भगवान राम का भव्य दरबार बनाया जाए।

राम दरबार

भगवान राम का दरबार, जिसमें भगवान राम पत्नी सीताभाई लक्ष्मण और अपने भक्त हनुमान के साथ बैठे होते हैं। ये भगवान राम के राज्य और उनके नियमों के एक दृश्य का प्रतिनिधित्व करता है। इसे रामराज्य के नाम से भी जाना जाता है।

भगवान राम के समकालीन सात पात्रों के होंगे छोटे-छोटे मंदिर 

खबरों की मानें तो आने दिनों में राम दरबार की स्थापना का काम शुरू होगा और इसको पूरा करने की समय सीमा दिसंबर 2024 तय की गई है। वहीं राम मंदिर के 795 मीटर परकोटे का निर्माण का भी अभी आधा काम बचा है। मंदिर के निचले चबूतरे पर आइकोनोग्राफी के माध्यम से पत्थरों पर मूर्तियां उकेरने का भी जारी है। वहीं जन्मभूमि परिसर में सप्त मंडपम की भी परिकल्पना जल्द साकार होगी। परिसर में एक बड़े आकार का मंडपम बनाया जाएगा। इसमें भगवान राम के समकालीन सात पात्रों के छोटे-छोटे मंदिर होंगे। सप्त मंडपम में महर्षि वाल्मीकिमहर्षि वशिष्ठमहर्षि विश्वामित्रमहर्षि अगस्त्यनिषाद राजमाता शबरी और माता अहिल्या के मंदिर होंगे।

रामनवमी से पहले तक और बेहतर होंगी सुविधाएं

राम मंदिर में रोजाना लाखों भक्त दर्शन के लिए आ रहे हैं और इसकी संख्या मंगलवार, शनिवार और रविवार को ज्यादा हो जाती है। इसको ध्यान में रखते हुए। यात्री सुविधाओं को और बेहतर करने की भी तैयारी की गई है। इन तैयारियों को रामनवमी से पहले तक पूरा कर लिया जाएगा। एक वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक, राम मंदिर के ट्रस्टी अनिल मिश्र बताते हैं कि सभी सड़कों का निर्माणप्रकाश व्यवस्थासुरक्षा उपकरण लगाने के कामतीर्थ यात्री सुविधा केंद्र का शेष काम रामनवमी से पहले पूरा करने का लक्ष्य है। जब पांच लाख या इससे ज्यादा भक्त अयोध्या आएं तो उन्हें मंदिर में राम लला के सुगम दर्शन कराए जा सकेंगे। परिसर की सफाई के लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया हैजिसके 50 कर्मचारी रोजाना सफाई करते हैं।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!