पंत और कप्तान रोहित के 'खास' की जगह संजू सैमसन की होगी वर्ल्ड कप टीम में एंट्री, ये है वजह

Home   >   रनबाज़   >   पंत और कप्तान रोहित के 'खास' की जगह संजू सैमसन की होगी वर्ल्ड कप टीम में एंट्री, ये है वजह

130
views

इंडिया की मेज़बानी में होने वाले ICC वनडे वर्ल्ड कप 2023 को शुरू होने में अभी 2 महीने से ज्यादा का समय है। लेकिन टीम इंडिया और भारतीय क्रिकेट बोर्ड BCCI वर्ल्ड कप मोड में आ चुकी है। कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड के पास वर्ल्ड कप के फाइनल-15 चुनने के लिए 12 वनडे मुकाबले और हैं, वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज़ से इसकी शुरूआत हो गई है हालांकि इस सीरीज में जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल समेत 4 खिलाड़ी नहीं हैं लेकिन उनका वर्ल्ड कप टीम में चुना जाना करीब-करीब तय है। ऐसे में जिस खिलाड़ी को मौका मिलेगा, वो बढ़िया प्रदर्शन करके बैकअप खिलाड़ी के तौर पर अपना दावा मजबूत कर सकता है।

वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज शुरू होने से पहले कप्तान रोहित शर्मा ने वर्ल्ड कप की टीम को लेकर बड़ा संकेत दिया है। रोहित ने कहा वर्ल्ड कप से पहले हमारे पास कई वनडे मैच खेलने का मौका है। इनमें वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 मैच हैं, उसके बाद एशिया कप में भी हम 5-6 मैच खेलेंगे और फिर सितंबर के अंत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 मैचों की घरेलू सीरीज शामिल है। कुल मिलाकर हम 11 से 12 वनडे मुकाबले खेलने वाले हैं। जिसके बाद इन मैचों से हम ये डिसाइड कर पाएंगे की हमें वर्ल्ड कप टीम में किस खिलाड़ी को लेना है। 11-12 मैच वर्ल्ड कप की फाइनल टीम बनाने के लिए काफी है। वेस्टइंडीज सीरीज इसलिए अहम है, क्योंकि काफी सारे नए प्लेयर्स टीम में हैं। हमें भी पता लगेगा कि प्लेयर्स मुश्किल सिचुएशन में कैसा परफॉर्म करते हैं।'

कप्तान रोहित शर्मा के इस बयान से ये तो साफ हो गया है कि आगामी वर्ल्ड कप के लिए उनकी निगाहें कुछ युवा खिलाड़ियों पर भी टिकी हुई हैं। रोहित और BCCI की सिलेक्शन कमेटी नए खिलाड़ियों को भी वर्ल्ड कप टीम में मौका देना चाहती है।

वर्ल्ड कप टीम के लिए सबसे ज्यादा माथापच्ची विकेटकीपिंग को लेकर है। मेन विकेटकीपर केएल राहुल इंजरी से उबरने में लगे हुए हैं, लेकिन टीम बैकअप विकेटकीपर की तलाश में है। साल भर पहले तक रिषभ पंत इस लिस्ट में थे, इसीलिए BCCI भी उन्हें लगातार मौके दे रही थी। लेकिन दिसंबर 2022 में हुए कार एक्सीडेंट ने BCCI की टेंशन बढ़ा दी है।

सलेक्शन कमेटी का ध्यान अब ईशान किशन और संजू सैमसन पर है। दोनों के बीच बैकअप विकेटकीपर के स्थान के लिए कड़ी टक्कर है। संजू टीम इंडिया के लिए मिडिल ऑर्डर और फिनिशर दोनों ही भूमिका में काम आ सकते हैं। वहीं ईशान फिनिशर की भूमिका में इतने खास रहे नहीं हैं। टॉप ऑर्डर पर रोहित और शुभमन गिल पारी की शुरूआत करेंगे। ऐसे में ईशान का टॉप ऑर्डर पर खेलना मुश्किल दिख रहा है। वहीं संजू सैमसन को सितंबर में होने वाले एशियन गेम्स की टीम में भी नहीं चुना गया है। इसका मतलब साफ है कि वो टीम के विश्वकप के प्लान का हिस्सा हैं। ऐसे में वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज सैमसन के लिए अहम होगी। अगर उन्हें मौका मिलता है तो उन्हें हर हाल में भुनाना होगा।

संजू सैमसन और ईशान किशन के प्रदर्शन पर अगर नज़र डालें तो संजू ने 11 मैचों में 66 की औसत से 330 रन बनाए हैं। वहीं ईशान किशन ने 14 मैचों में 42.5 की औसत से 510 रन बनाए हैं।

फिलहाल वेस्टइंडीज को टेस्ट में उसके घर में पटखने के बाद टीम ने वनडे में हराने के लिए कमर कस ली है। इस सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर हर युवा खिलाड़ी की नजर विश्वकप टीम में जगह बनाने पर होगी। 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!