बड़ी दिलचस्प है टमाटर की कहानी, 'जहरीला' होने का आरोप लगा दर्ज हुआ था मुकदमा

Home   >   मंचनामा   >   बड़ी दिलचस्प है टमाटर की कहानी, 'जहरीला' होने का आरोप लगा दर्ज हुआ था मुकदमा

85
views

 

 

 

टमाटर के रेट 100 रुपये के पार हैं। इतना महंगा होने के बाद भी लोग इस खरीद रहे हैं। लेकिन, एक दौर ऐसा भी था जब ‘टमाटर’ को लोग जहर मानते थे। ये बात साल 1820 से पहले की है। तीन सदियों तक इसे पापी समझा गया। टमाटर पर जहरीला होने का आरोप लगा। केस हुआ। टमाटर को कोर्ट में पेश होना पड़ा। जमकर बहस हुई। फिर जो हुआ उसके बाद सभी हैरान थे। आखिर, ये टमाटर हमारे किचन तक कैसे पहुंचा। आज कहानी टमाटर की जो बड़ी ही दिलचस्प है। 

यूरोप और अमेरिका में लंबे समय तक टमाटर को जहरीला माना जाता था। इसे ‘पॉइजन एप्पल’ निकनेम दिया गया। 15वीं से 18वीं सदी यानी तीन सदियों तक टमाटर से लोग नफरत करते रहे।

इसे ‘पापी’ सब्जी माना जाता था। टमाटर शब्द, TOMATILLO से लिया गया है, जिसका मतलब है SWELLING FRUIT

एक वेबसाइट की खबर की मुताबिक, ‘अमेरिका के न्यू जर्सी के सेलम में जॉन गेराड नाम के एक सर्जन थे, जो खेती भी करते थे। उन्होंने जब पहली बार टमाटर की खेती की, तो उसमें टोमैटिना नाम का टॉक्सिन बेहद कम पाया। टोमैटिना की वजह से ही टमाटर को लोग जहरीला मानते थे। लेकिन, उससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचा।’

टमाटर से लोग नफरत करने का एक कारण और था। उन दिनों लाल रंग की सब्जी और फलों को सही नहीं माना जाता था।

बात जून 1820 न्यू जर्सी के सेलम के एक कोर्ट में टमाटर पर केस किया गया। आरोप था टमाटर जहरीला है। हर कोई ये आरोप लगा रहा था। वहीं, एक इंसान थे, जिसने टमाटर का पक्ष लिया। वो थे कर्नल रॉबर्ट गिबन जॉनसन।

पेशी वाले दिन जॉनसन अपने हाथों में टमाटर से भरी हुई टोकरी लेकर कोर्ट पहुंचे। हर कोई उन्हें ही देख रहा था। जॉनसन सबके सामने एक-एक करके टमाटर खाने लगे। लगा कि आज तो जॉनसन नहीं बचेंगे। लेकिन उन्हें कुछ नहीं हुआ। सभी सभी हैरान थे। जॉनसन ने बताया कि टमाटर जहरीला नहीं है, बल्कि इसके कई फायदे हैं।

लाइकोपीन पिगमेंट की वजह से लाल रंग और ऑक्जेलिक एसिड की वजह से टमाटर में खट्टापन होता है।

इस घटना के बाद से लोगों के मन से टमाटर का खौफ निकल गया। युरोप और अमेरिका में टमाटर की खेती ने जोर पकड़ा।

16वीं शताब्दी में पुर्तगाली जब भारत आए तो साथ में टमाटर लाए। इसके बाद 18वीं शताब्दी में अंग्रेज भी यहां टमाटर की खेती करने लगे।

आज अगर भारत की बात करें तो शायद ही कोई ऐसा घर होगा, जहां टमाटर का इस्तेमाल नहीं किया जाता होगा। तो आप भी टमाटर का इस्तेमाल करें। सलाद खाएं। इससे न केवल खाने का स्वाद बढ़ेगा, बल्कि टमाटर का जूस आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करेगा।

 

 

 

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!