Ram Mandir निर्माण के साथ Ayodhya में चल रहे ये Projects, PM Modi ने दी हजारों करोड़ की सौगात

Home   >   खबरमंच   >   Ram Mandir निर्माण के साथ Ayodhya में चल रहे ये Projects, PM Modi ने दी हजारों करोड़ की सौगात

44
views

राम आएंगे तो अंगना सजाऊंगी....गीत की तर्ज पर राम मंदिर निर्माण के साथ-साथ पूरी अयोध्या दुल्हन की तरह सज-संवर रही है. 22 जनवरी 2024 ये वो तारीख है जो इतिहास के पन्नों में दर्ज होगी. इस दिन अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में भगवान श्रीराम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होगी. प्रधानमंत्री मोदी समेत देश की तमाम बड़ी हस्तियां अयोध्या में रहेंगी. जिक्र अगर तैयारियों का हो तो, चाहे वो नया इंटरनेशनल एयरपोर्ट हो. या रेलवे स्टेशन. नई फ्लाइट्स, नई ट्रेनें, या फिर इंफ्रास्ट्रक्चर के और कई बड़े प्रोजेक्ट हो. अयोध्या पूरी तरह से बदल रही है. कहीं भी नजर डालें, तो युद्ध स्तर पर निर्माण हो रहा है. या फिर पूरा हो चुका है.


इससे पहले 6 नवंबर 2018 ये वो तारीख थी जब फैजाबाद का नाम बदलकर योगी सरकार ने अयोध्या कर दिया था. पहले अयोध्या फैजाबाद का ही एक हिस्सा हुआ करती थी. योगी सरकार ने शुरुआत से ही अयोध्या के विकास को लेकर कई बड़े प्रोजेक्ट्स पर काम किया. हर दीवाली को जैसे दीपोत्सव होता है वैसा पहले कभी नहीं होता था. मौजूदा समय में राम मंदिर निर्माणा का कार्य अपने आखिरी दौर में है. ऐसे में ये जानना बेहद जरूरी है. कि आखिर अयोध्या कितनी बदल रही है और कौन से वो प्रोजेक्ट्स है जिनका पूरा होने से अयोध्या समेत पूरा रीजन विकास के मामले में प्रदेश में अव्वल हो जाएगा.


रिपोर्ट्स की मानें तो इस समय अयोध्या में अरबों के विकास कार्य किये जा रहे हैं. सड़कों से लेकर रेलवे स्टेशन नए लुक में दिखाई दे रहे है. अयोध्या में बनी दुकानें, घरों को भी संजाया गया है. भव्य इंटरनेशनल एयरपोर्ट, अयोध्या धाम का लोकार्पण PM मोदी ने कर दिया है. एयरपोर्ट से अब कनेक्टिविटी आसान हो जाएगी. इस एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि इंटरनेशनल है जिसका पहला चरण पूरा हो चुका है. इस परियोजना पर 1450 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आई है. 6500 वर्गमीटर क्षेत्र का विशाल टर्मिनल भवन हवाई अड्डे पर तैयार कराया जा रहा है. यहां पर करीब 10 लाख यात्रियों का सालाना आवागमन संभव हो सकेगा.


टर्मिनल बिल्डिंग का अगला भाग अयोध्या में बन रहे श्रीराम मंदिर की तर्ज पर विकसित किया गया है. टर्मिनल भवन के अंदरूनी हिस्सों में भगवान श्रीराम के जीवन को दर्शाने वाली स्थानीय कला, पेंटिंग और भित्तिचित्रों को लगाया गया है. इससे ये एक अलग ही अहसास कराता है. अब से इंडिगो और एयर इंडिया एक्सप्रेस इस नए एयरपोर्ट की उद्घाटन उड़ान संचालित करेगी. दोनों ही एयरलाइंस पहले ही दिल्ली, मुंबई और अहमदाबाद से अयोध्या तक की हवाई सेवा का ऐलान कर चुकी हैं. ये हवाई सेवा जनवरी 2024 से शुरू होंगी. सूत्रों का कहना है कि एयरपोर्ट के दूसरे चरण के विकास के तहत 5000 वर्ग मीटर की नई टर्मिनल बिल्डिंग बनाने की योजना है, जिसका सालाना क्षमता 60 लाख यात्रियों की है.


एयरपोर्ट के साथ अयोध्या धाम जंक्शन रेलवे स्टेशन को भी संवार दिया गया है. वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से लैस रेलवे स्टेशन के कपाट भी अयोध्यावासियों के लिए खुल गए है. तीन फेज में चले रहे निर्माण कार्य में इस स्टेशन का पहला फेज बनकर तैयार हो चुका है. जिसका लोकार्पण PM मोदी ने कर दिया है. ये स्टेशन देश के सबसे खूबसूरत और आधुनिक सुविधाओं से लैस है. मंदिर के शुभारंभ के दौरान उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए रेलवे ने देशभर से बड़े लेवल पर स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक, एक हफ्ते के दौरान रेलवे अयोध्या के लिए 100 से भी ज्यादा स्पेशल ट्रेन चला सकता है.


अयोध्या शहर में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर को जोड़ने वाली चार सड़कों का भी उद्घाटन हो गया है. PM मोदी ने अयोध्या दौरे के दौरान राज्य में 15,700 करोड़ रुपये से ज्यादा की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. रिपोर्ट्स की मानें तो अयोध्‍या में 30,923 करोड़ की योजनाएं प्रस्‍तावित हैं, जिनमें कई पूरी हो गई है जबकि कई का निर्माण पूरा होने जा रहा है. अयोध्या डीएम के मुताबिक कुल 200 प्रोजेक्टस पर वर्क किया जा रहा है. 4115.56 करोड़ रुपये की लागत से 50 मेगा प्रोजेक्ट्स को पूरा कर लिया गया है. जिससे भव्य और दिव्य अयोध्या दिखने लगी है.


रामपथ की लागत
सआदतगंज से नयाघाट तक स्पाइन रोड का 844.93 करोड़ रुपए की लागत से राम पथ
राजर्षि दशरथ स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय के निर्माण कार्य को 245.64 करोड़
शिरोपरि लाइनों को भूमिगत किए जाने के लिए 167 करोड़
नयाघाट पर लता मंगेशकर चौक के विकास के लिए 75.26 करोड़
पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर रेल ओवर ब्रिज के निर्माण के लिए 74.24 करोड़
भक्ति पथ के निर्माण को 68.04 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया गया है.
धर्म पथ और राम पैड़ी की रीमॉडलिंग
NH-27 से नयाघाट पुराने पुल तक 65.40 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किए गए धर्म पथ
56.03 करोड़ रुपये की लागत से राम की पैड़ी के मुख्य चैनल की रीमॉडलिंग
47.86 करोड़ रुपये की लागत से सड़कों व नालियों का नव-निर्माण


फोरलेन मार्ग, वाहन पार्किंग
NH-27 बाईपास महोबरा बाजार होते हुए टेढ़ी बाजार राम जन्मभूमि तक 44.98 करोड़ की लागत से फोरलेन मार्ग
42.75 करोड़ रुपये की लागत से व्यावसायिक संकुल का निर्माण
गुप्तार घाट से जमथरा घाट तक 39.63 करोड़ रुपये से 1.150 किमी तक तटबंध निर्माण
37.10 करोड़ रुपये की लागत से गुप्तार घाट के विकास
राम की पैड़ी पर 24.81 करोड़ रुपये की लागत से पंप हाउस का रीकंस्ट्रक्शन
 37.08 करोड़ रुपये की लागत से लक्ष्मण कुंज स्मार्ट वाहन पार्किंग
 14.87 करोड़ रुपये की लागत से सूर्य कुंड में जन सुविधाओं के विकास कार्य पर शहर में पर्यटन सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए तमाम सहूलियतों का विकास किया गया है.


प्राचीन तालाबों एवं धार्मिक स्थलों का सौन्दर्यीकरण
पुराने आश्रमों, प्राचीन तालाबों और मंदिरों सहित पूरे शहर को सुंदर बनाने के लिए प्रोजेक्ट्स
लगभग 37 ऐसे धार्मिक स्थानों को शॉर्टलिस्ट है जहां राज्य पर्यटन विभाग 68.80 करोड़ रुपये की लागत से कायाकल्प कार्य कर रहा है. जानकी घाट, बड़ा स्थान, दशरथ भवन मंदिर, मंगल भवन, अक्षरी मंदिर, राम कचेहरी मंदिर, सियाराम किला, दिगंबर अखाड़ा, तुलसी चौराहा मंदिर, भरत किला मंदिर, हनुमान मंदिर, कालेराम मंदिर, नेपाली मंदिर, चित्रगुप्त मंदिर आदि शामिल हैं.
जिस तरह से अयोध्या को विकसित किया जा रहा है. वहां के घाटों को संवारा जा रहा है उसके बाद मथुरा, बनारस के साथ-साथ राम नगरी अयोध्या में भी टूरिस्ट को बढ़ावा मिलना तय है. यहां कई बड़े होटल भी अब बन गए है. अब ये कहना गलत नहीं होगा कि जिस अयोध्या में रोजगार के बहुत ज्यादा विकल्प थे वहां अब रोजगार के विकल्प भी खुल चुके है. अंत में हम बस यही कहेंगे कि वो निर्माण जिसे होने में कम से कम 4 दशक लगता वो अयोध्या में हो गया है और इसका पूरा श्रेय यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है. जिन्होंने अयोध्या को संवारने में कोई कसर नहीं छोड़ी. समय निकालिये और अयोध्या जरूर जाइए. नई अयोध्या बाहें फैलाकर आपका स्वागत करने को तैयार है. 

 

 
कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!