क्या हैं Paparazzi, क्यों सेलेब्रिटीज को होती है इनकी ज़रुरत ?

Home   >   रंगमंच   >   क्या हैं Paparazzi, क्यों सेलेब्रिटीज को होती है इनकी ज़रुरत ?

95
views

ब्रिटेन की शाही परिवार की वो प्रिसेंस जो इस सदी में सबसे चर्चा में रहीं, प्रिंसेस डायना की खूबसूरती के चर्चें आज तक है वो सुकुमारी सी दिखने वाली प्रिसेंस जो अपनी काइंडनेस और बाद में बोल्ड अंदाज के लिए चर्चा में रही। लेकिन 36 साल की उम्र में उनकी मौत जब एक दुर्घटना में हुई, तो उनकी मौत के एक कारण में फोटोग्राफी को भी शामिल किया गया, क्योंकि उस दुर्घटना का कारण फोटो खींचना था। ये 31 अगस्त 1997 की बात है, तभी लोगों को ध्यान पैपराजी पर सबसे तेजी से गया था। बॉलीवुड इंडस्ट्री में स्टार्स के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल रहते हैं। लेकिन पैपराजी से स्टार्स को भी काफी फायदा होता है।लेकिन पैपराजी किसे कहते है।इनका काम क्या होता है।

सोशल मीडिया पर किसी सेलेब्रिटी के कहीं आने-जाने और कुछ अनोखा करने के वीडियों काफी वायरल रहते हैं। कई बार ये कैमरामैंस ट्रोल भी हो जाते हैं, जैसे हाल ही में आलिया भट्ट ने अपने घर में आराम में सुकून से भरे पलों के बीच जब कुछ लोग छुपकर उनकी तस्वीरें खिचने की कोशिश कर रहे थे, तो इस पर उन्होंने नाराजगी भी जताई थी। इन्ही कैमरामैंस को बेसिकली पैपराजी के तौर पर जाना जाता है।

बीसवीं सेंचुरी में अखबारों का एक बिल्कुल नया पेशा सामने आया। राजनीति, खेल, फिल्म या कोई भी जो फेमस हो। ये लोग उन व्यक्तियों का पीछा करते, उनकी डेली लाइफ की चीजों को कैमरे में कैद कर लेते, जो देखने में काफी रोमांचक और सनसनी भरा लगता। पैपराजी के जो फोटोग्राफर्स होते थे। वो शो बिजनेस की दुनिया बदनाम रहे, कारण था वो जासूस कैमरों से फेमस सितारों का पीछा करती रहते और उन फेमस कलाकारों के लिए तन्हाई में एक क्षण भी बिताना मुश्किल हो जाता है।

जैसे इन फोटोग्राफर्स का पहला जिक्र 1950 के दशक के करीब देखने को मिलता है जब रोम के कुछ यंग फोटोग्राफर्स ने मिस्र के शाह फारुख के कुछ पर्सनल फोटोज पब्लिश करा दिए थे। हालांकि तब इन्हें पैपराजी फोटोग्राफर्स नहीं कहा जाना जाता था बल्कि लोग इस तरह के फोटोग्राफर्स को स्ट्रीट फोटोग्राफर नाम से जानते थे।

पैपराजी इटैलिक लैग्वेज का वर्ड है। जिसका प्रननसिएशन पापरात्सी होता है। वैसे इसका नाम पैपराजी पड़ने के पीछे किस्सा है कि साल 1960 में डायरेक्टर फेडरिको फ्लेनी ने उस नौजवान लड़के की जिंदगी पर फिल्म बनाने का इरादा किया। जिसने शाह फारुक की ऐसी फोटो ली जिसमें वो गुस्से में दिख रहे थे। इस फिल्म में उस कैरेक्टर का नाम कोरिओलानो पापारात्सो था। डोल्से वीटा नाम की इस फिल्म से पैपराजी शब्द का ईजाद हुआ बताया जाता है।

ऐसा ही कुछ प्रिसेंस डायना के साथ भी हुआ था, जिसका जिक्र हमने इस स्टोरी की शुरूआत में किया था। तब भी फोटोग्राफर्स की चाहत दो जिंदगियों पर भारी पड़ी थी। बताया जाता है कि प्रिसेंस डायना पेरिस में अपने प्रेमी के साथ रेस्ट्रॉ में थीं। जब वो वहां से निकली तो फोटोग्राफर्स ने फोटोज के लिए अपनी गाडियां उनकी ओर दौड़ा दीं। उनके बचने के चक्कर में उनका एक्सीडेंट हो गया और लोगों ने उस समय इन फोटोग्राफर्स की आलोचना करना शुरू कर दिया था। यहां पर हम पैपराजी की आलोचना नहीं कर रहे बल्कि कैसे ये धीरे-धीरे वक्त के साथ सबसे ज्यादा वजूद में आया उसपर बात कर रहे हैं।

लेकिन अब पैपराजी का स्वारुप काफी बड़ा हो चुका। शायद ये कहा जा सकता है कि पहले पैपराजी सेलेब्रिटीज के पीछे भागता था, लेकिन अब सेलेब्रिटीज को पैपराजी की जरुरत होती। क्योंकि फिल्म प्रमोशन से लेकर कपड़ों, ब्रांड के प्रमोशन तक सेलेब्रिटीज को लाइमलाइट की जरुरत होती है।

मीडिया रिपोर्ट्स में सबसे बड़ी पैपराजी साइट मानव मंगलानी के मुताबिक, हमें सेलिब्रिटी के बर्थडे, एनिवर्सरी, उनके अहम् डेज, शूटिंग शेड्यूल, फिल्मों की जानकारी, रूटीन आदि की गहरी रिसर्च करके रखनी पड़ती है कि ये कब और कहां जाएंगे? गाड़ी किसकी है, कौन कब बाहर निकलने वाला है, कब किसकी एनिवर्सरी है, कौन किस इवेंट में जा रहा है? इसको अवार्ड कहां पर मिल रहा है, शूटिंग कहां पर होने वाली है? हमें ये सब पता लगाकर रखना पड़ता है। 80% काम हमारा रिसर्च पर होता है और 20 परसेंट हमें टिप ऑफ, उनके पीआर और उनकी तरफ से बुलाया जाता है। हम रोजाना खुफिया मिशन पर होते हैं।

कई बार महीनों तक पीछा और फॉलो अप करना पड़ता है। जैसे आराध्या के फोटो के लिए 2 महीने का पूरा रिसर्च था कि आराध्या कहां जा रही है, ऐश्वर्या कब ले कर निकलेगी? हालांकि पैपराजी की वजह से कुछ और भी बातें सामने आई जोकि लोगों के लिए रियालिटी चेक साबित हुई। जैसे स्टार किड्स का बिहेवियर, रियल लाइफ में कई स्टार कैसे रहते है

कई चीजें भी सामने आईं। कई बार सेलेब्रिटीज ऐसे रिएक्ट करते हैं जैसे उनको कुछ पता ही नहीं। जबकि मानव मंगलानी के मुताबिक, 'वो सब ड्रामा है। हर सेलिब्रिटी को पैप्स की जरूरत होती है। हां उनके पर्सनल स्पेस की रिस्पेक्ट करनी चाहिए और हम वो करते भी हैं। मेरी टीम में कोई भी बिना इजाजत शूट नहीं करता अगर कोई मना कर रहा है तो अलग बात है और अगर लग रहा है की सेलिब्रिटी ड्रामा कर रहा है तो दूर से ले कर निकल जाओ, जो होगा बाद में देखा जाएगा।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!