सलमान खान और आमिर खान ने ऐसा क्या किया कि शाहरुख खान बॉलीवुड के बादशाह बन गए?

Home   >   रंगमंच   >   सलमान खान और आमिर खान ने ऐसा क्या किया कि शाहरुख खान बॉलीवुड के बादशाह बन गए?

189
views

बॉलीवुड के तीन खान शाहरुख़, सलमान और आमिर करीब चार साल के बाद शाहरुख़ ख़ान लीड एक्टर के तौर पर पठान फिल्म से वापसी करने जा रहे हैं। लेकिन शाहरुख़ ख़ान की कई हिट फिल्म के पीछे बाकी दोनों खान वजह रहे।

1993 में आई जूही चावला, सनी देओल और शाहरुख़ ख़ान की फिल्म डर। यशराज फिल्म्स के बैनर में बनी इस फिल्म का आईडिया असल में यश चोपड़ा के बेटे उदय चोपड़ा और ऋतिक रोशन का था। जो उन्होंने हॉलीवुड की निकोल किडमैन की फिल्म डेड काम की थीम पर थी। फिर आदित्य चोपड़ा और यशराज चोपड़ा ने भी फिल्म डेड काम देखी और फिल्म बनाना तय किया। अब इन दिनों सनी देओल बिग स्टार थे। इसलिए फिल्म के दोनों अहम रोल्स राहुल मेहरा और सुनील मल्होत्रा उन्हें ही ऑफर किए गए। नेगेटिव रोल से छवि खराब होने के डर से सनी देओल मे सुनील मल्होत्रा का कैरेक्टर चुन लिया।

लेकिन अभी फिल्म के नेगेटिल रोल पर एक्टर तय करना अभी बाकी था। फिल्म संयज दत्त को ऑफर हुई, लेकिन वो कानूनी मसलों की गिरफ्त में थे। फिर रोल अजय देवगन के पास गया, उनके पास डेट्स नहीं थीं। फिर यश चोपड़ा के साथ परंपरा में काम कर रहे आमिर खान को रोल दिया गया। लेकिन स्क्रिप्ट की डिमांड पर सनी देओल से पंचेंस खाना आमिर खान को पसंद नहीं आया। जिसके बाद कहीं जाकर शाहरुख खान को रोल दिया गया। वैसे SRK के लिए ये सफर भी आसान नहीं था। क्योकि शाहरुख खान यश चोपड़ा और आदित्य चोपड़ा दोनो को ही पसंद नहीं थे। टीवी से निकलकर आए एक आडिनरी लड़के को इतना इमपोर्टेंट रोल देना दोनों को ही पसंद नहीं आ रहा था।

उन दिनों शाहरुख खान किंग अकंल की शूटिंग कर रहे थे। शाहरुख खान को फाइनल करने से पहले उनसे फिल्म का गाना अंग से अंग लगाना शूट करवाया गया थाजिसके बाद कहीं जाकर शाहरुख खान फाइनल हुए थे।

फिल्म बाजीगर का डायलाग है...कभी-कभी जीतने के लिए कुछ हारना पडता है और हारकर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं। आप समझ ही गए होंगे अब हम फिल्म बाजीगर की बात कर रहें हैं। पहले फिल्म सलमान खान को ऑफर हुई थी, लेकिन हीरो का नेगेटिव कैरेक्टर शायद दर्शको को पसंद न आए...इसलिए सलमान खान के फादर सलीम खान ने फिल्म से मना कर दिया और शाहरुख खान विलेन बनकर भी बाजीगर बन गए।

 फिर द आईकोनिक फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे...इस फिल्म को भी पहले आमिर खान को ऑफर किया गया था, फिल्म 1995 में आई थी। आमिर खान उस समय इस रोमेंटिक रोल को करना नहीं चाहते थे। और ये फिल्म भी शाहरुख खान के पास चली गई। फिल्म में राज के कैरेक्टर को रोमेंस के बादशाह शाहरुख ने कुछ इस तरह से बुना कि वो रोल आईकानिक बन गया। फिल्म के 25 साल होने पर आमिर खान ने टवीट करते हुए फिल्म की तारीफ की।

उन्होंने लिखा- 'ऐसा हीरो जो अपने आप को खोज लेता है, ऐसी एक्ट्रेस जो अपनी अंदर की आवाज पहचान लेती है, ऐसा विलेन जिसका हृदय परिवर्तन हो जाता है। ये फ़िल्म हमारे अंदर की अच्छाई और ऊंचाई को दिखाती है। मैं पूरी कास्ट की तारीफ करना चाहूंगा

डीडीएलजे हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर में से एक हैं। फिल्म ने नेशनल फिल्म अवार्ड के साथ ही 10 फिल्मफेयर अवार्ड भी अपने नाम किए थे।

फिल्मों में मोहब्बत को शाहरुख जिस अंदाज में दिखाते हैं, वो शायद ही कोई कर सकता है। साल 2000 में आई फिल्म मोहब्बतें के लिए भी पहली अप्रोट आमिर खान थे, लेकिन उन्होंने फिल्म को न कहा और शाहरुख खान ने एक बार और फिल्म को अपने अभिनय से भर दिया।

इसके बाद 2004 में स्वदेश फिल्म ऋतिक रोशन को ऑफर हुई, लेकिन उन्होंने फिल्म को न कहा और स्वादेश से शाहरुख खान को एक नई पहचान मिल गई। इस कडी में आखिरी फिल्म चक दे इंडिया है। फिल्म के 70 मिनट वाले डायलॉग को आज लगता है कि शाहरुख के अलावा शायद ही कोई इतने जज्बात के साथ बोल सके...लेकिन उस समय ये रोल सलमान खान के ऑफर किया गया। उनके इनकार के बाद शाहरुख खान की हिट फिल्म की लिस्ट  में चक दे इंडिया शामिल हुई।  

 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!