Aishwarya Rai Bachchan : 'खामोशी' अच्छी लगती थी

Home   >   किरदार   >   Aishwarya Rai Bachchan : 'खामोशी' अच्छी लगती थी

121
views

बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेसेस में शामिल ऐश्वर्या राय बच्चन (Aishwarya Rai Bachchan) ने कई बेहतरीन फिल्मों में काम कर लोगों को अपना दिवाना बनाया। पर ये सब कुछ पाना इतना नाम कमाना आसान नहीं था। उन्हें अपनी पहचान बनाने के लिए पांच सालों का लंबा वक्त लगा।

मेरी और ऐश्वर्या राय की मुलाकात पहली बार फिल्म राजा हिंदुस्तानी की स्क्रीनिंग के दौरान हुईं। वो मेरे पास चलकर आईं और बोलीं हाय मैं ऐश्वर्या राय हूं। मैंने आपकी फिल्म खामोशी देखी है, मुझे काफी अच्छी लगी। ऐश इतनी बातें कर रही थीं, लेकिन मैं सिर्फ उनकी नीली आंखों को देख रहा था और उस पल मैंने ये सोच लिया कि झील जैसी आंखों वाली ये लड़की ही फिल्म हम दिल दे चुके सनम की नंदिनी के लिए सबसे बेहतर साबित होगी।’

ये बातें फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने एक इंटरव्यू में ऐश्वर्या राय के बारे में कही थी। जब उन्होंने फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ में नंदिनी के रोल के लिए ऐश्वर्या को कास्ट किया था।

बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेसेस में शामिल ऐश्वर्या राय ने कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया है। मिस वर्ल्ड बनीं। अपनी एक्टिंग और अपनी खूबसूरती से लोगों को अपना दिवाना बनाया। पर ये सब कुछ पाना इतना नाम कमाना आसान नहीं था।

उन्हें अपनी पहचान बनाने के लिए पांच सालों का लंबा वक्त लगा। आज कहानी ऐश्वर्या राय के फिल्मी सफर की। पहली हिट फिल्म की। उनके प्रेम की और शादी की। उनकी ‘मैं’ से ‘हम’ बनने की कहानी।

मरीन इंजीनियर कृष्णराज राय और वृंदा राय के घर 1 नवंबर, साल 1973 को ऐश्वर्या राय का जन्म हुआ। शुरुआती पढ़ाई और कॉलेज मुंबई से किया ।

फिर उन्होंने मॉडलिंग की दुनिया में नाम कमया। वो 1994 में मिस वर्ल्ड बनीं। इसके बाद उनका फिल्मी सफर शुरू होता है।

साल 1997 जब तमिल फिल्म इरुवर और हिंदी फिल्म ‘और प्यार हो गया’ से ऐश्वर्या राय ने अपने सफर की शुरुआत की। अगले साल, साल 1998 को फिर से इनकी एक तमिल फिल्म ‘जींस’ और हिंदी फिल्म ‘आ अब लौट चलें’ रिलीज हुईं।

पर ये फिल्में कुछ खास कमाल नहीं कर पाईं। विश्व सुंदरी बनने के बाद भी ऐश्वर्या राय को बतौर एक्ट्रेस बनने के लिए संघर्ष करना पड़ा।

फिर साल 1999 को फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'हम दिल दे चुके सनम'। फिल्म सुपरहिट हुई। ऐश्वर्या राय की किस्मत भी रातों-रात बदल गई। फिल्म के बाद मीडिया में खबरें आई की एक्टर सलमान खान और ऐश्वर्या राय एक दूसरे को डेट भी कर रहे हैं। पर ये रिश्ता आगे नहीं बढ़ पाया।

लेकिन ऐश्वर्या राय का फिल्मी सफर का ग्राफ बढ़ने लगा था। साल दर साल जोश, हमारा दिल आपके पास है, खाकी, रेन कोट, शब्द, रावन, 'देवदासमोहब्बतेंताल, धूम 2, गुजारिश, सरबजीत, पोंनियिन सेलवन जैसी 50 से ज्यादा फिल्मों में काम किया।

साल 2004 की फिल्म ‘क्यों हो गया ना’ में ऐश्वर्या राय ने एक्टर विवेक ओबेरॉय के साथ काम किया। मीडिया की खबरों के मुताबिक ये दोनों भी एक दूसरे को डेट करने लगे थे।

पर ये भी रिश्ता भी खत्म हो गया। फिर इनके जीवन साथी बने एक्टर अभिषेक बच्चन।

अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय की पहली मुलाकात साल 2000 में रिलीज हुई फिल्म 'ढाई अक्षर प्रेम के' के सेट पर हुई थी। कुछ सालों तक वो सिर्फ अच्छे फ्रेंड्स थे। पर साल 2006 की फिल्म उमराव जान की शूटिंग के दौरान दोनों में नजदीकियां बढ़ीं। फिर फिल्म 'गुरु' के सेट पर अभिषेक ने ऐश्वर्या राय को प्रपोज किया था।

एक वक्त में अभिषेक बच्चन की पत्नी करिश्मा कपूर बनने वाली थीं। साल 2002 में दोनों की सगाई भी हो गई थी। पर ये रिश्ता एक साल बाद साल 2003 में टूट गया। फिर अभिषेक और ऐश्वर्या की शादी साल 2007 में हुई। ऐश्वर्या राय और अभिषेक बच्चन की बेटी आराध्या हैं।

घर का बना खाना खान की बेहद शौकीन ऐश्वर्या राय एक सवाल के जवाब में कहती हैं आगे बढ़ना जीवन का हिस्सा है। शादी के बाद क्या बदला है और क्या अलग है, ये सब आकलन करना आप लोगों का काम है। शादी के बाद सिर्फ आपका जीवन नहीं रह जाता है, परिवार बन जाता है। 'मैंत्म हो जाता है और उसकी जगह 'हम' ले लेता है। रिश्तों में समर्पण आ जाता है।

दो बार फिल्म फेयर अवार्ड और साल 2009 में पद्मश्री से सम्मानित ऐश्वर्या राय बच्चन अभी फिल्मों के कई प्रोजेक्ट में काम कर रही हैं।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!