Sushant Singh Rajput : बैकग्राउंड डांसर से बॉलीवुड के उभरते हुए स्टार तक

Home   >   किरदार   >   Sushant Singh Rajput : बैकग्राउंड डांसर से बॉलीवुड के उभरते हुए स्टार तक

24
views

जिंदगी को जिंदादिल से जीने वाला इंसान

वो उभरता हुए स्टार था। चार्मिंग पसर्नैलिटी, दिलकश मुस्कान और दमदार एक्टिंग। एक से बढ़कर एक फिल्में देकर वो हर वर्ग के दर्शक का चहेता बना। फिर एक दिन खबर आई की वो नहीं रहा, उम्र सिर्फ 34 की थी। उनकी बॉडी उन्ही के फ्लैट में मिली थी। हत्या थी या आत्महत्या, वजह अब तक सामने नहीं आई है। पर ऐसा कहा गया कि जिंदगी को जिंदादिल से जीने वाला ये इंसान डिप्रेशन से लड़ रहा था। आज कहानी सुशांत सिंह राजपूत की। जिनकी पूरी जिंदगी बेहद दिलचस्प है। पढ़ाई में तेज थे और डांस करना उनकी खुशी थी। दो बार मोहब्बत भी की। पर किसी से शादी नहीं हो पाई। उनके 50 सपने भी थे जिन्हें वो पूरा करना चाहते थे। लेकिन जब वो गए तो 39 सपने अधूरे रह गए।

इकलौते भाई, सभी के लाडले

कृष्ण कुमार सिंह और उषा सिंह पटना में रहते थे। इन्ही के घर 21 जनवरी, साल 1986 को एक बेटे का जन्म हुआ। नाम रखा – गुलशन , जिन्हें दुनिया ने सुशांत सिंह राजपूत के नाम से जाना। चार बहनों के इकलौते भाई थे। सभी के लाडले। दिल्ली के सेंट केरन स्कूल से पढ़े। पढ़ाई में तेज सुशांत ने साल 2003 में दिल्ली यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के एंट्रेंस एग्जाम में 7th रैंक हासिल की, इसी के साथ कुल 11 इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई किए।

इंजीनियरिंग छोड़ दी अधूरी

दरअसल वो बचपन से ही इंट्रोवर्ट थे। शायद इसलिए की 16 साल की उम्र में उनकी मां का निधन हो गया था उससे पहले वो अपनी एक बड़ी बहन को भी खो चुके थे। उनके दोस्त भी सिर्फ 2-3 ही थे। तो अपनी भावनाओं किससे व्यक्त करते। उन्हें डांस का शौक था। व्यक्त करने के लिए श्यामक डावर डांस क्लास ज्वाइन की। डांस की फीस के लिए ट्यूशन पढ़ाया। वक्त बीता वो डांस में इतने बेहतर हो गए की डावर डांस ट्रूप के मेंबर बन गए। साल 2005 में 51वें फिल्मफेयर अवॉर्ड सेरेमनी में और साल 2006 में ऑस्ट्रेलिया के कॉमनवेल्थ गेम्स की क्लोजिंग सेरेमनी में बतौर बैक डांसर डांस किया।

जब मुंबई की तरफ किया रुख

एक दिन श्यामक डावर, सुशांत सिंह से कहते हैं 'तुम डांस करते वक्त कमाल के एक्सप्रेशन देते हो। तुम एक बेहतर एक्टर भी बन सकते हो।' इसके बाद श्यामक ने सुशांत सिंह को एक्टिंग गुरू बैरी जॉन से मिलवाया। और यही वो वक्त था जब जिंदगी ने करवट ली। वो इंजीनियरिंग छोड़ एक्टर बनने का ख्वाब लिए मुंबई आ गए। पर सफर इतना आसान नहीं थी। वो नादिरा बब्बर के थिएटर ग्रुप से जुड़े। काम पाने के लिए प्रोड्यूसर और डायरेक्टर के ऑफिस के चक्कर लगाते। ठिकाना बना एक कमरा जिसमें 6 स्ट्रगलर्स और भी साथ रहते।

ऐसे मिला ‘पवित्र रिश्ता’ शो

एक दिन जब वो नाटक परफॉर्म कर रहे थे। तब उन पर नजर गई बालाजी टेलीफिल्म्स की कास्टिंग टीम की। सुशांत के एक्सप्रेशन और पर्सनालिटी को देख कास्टिंग टीम ने उन्हें टीवी शो 'किस देश में है मेरा दिल' के ऑडिशन के लिए बुलाया। वो सिलेक्ट हुए और उनका छोटे पर्दे से एक्टिंग करियर की शुरुआत की। साल 2009 में अंकिता लोखंडे के साथ टीवी शो पवित्र रिश्ता में दिखे। मानव और अर्चना की जोड़ी को दर्शकों ने खूब पसंद किया। मानव के रोल के लिए सुशांत को तीन बड़े टेलीविजन अवार्ड से नवाजा गया। जरा नचके दिखा और झलक दिखला जा में भी उनके डांस मूव्स को पसंद किया गया। टीवी का जाना माना नाम बनें।

कहानी अभी खत्म नहीं हुई थी…

उन्होंने साल 2011 में टीवी शो पवित्र रिश्ता शो छोड़ दिया। दरअसल वो यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया से फिल्म मेकिंग का कोर्स करना चाहते थे पर ऐसा हो न सका। इसी दौरान साल 2013 में रिलीज हुई फिल्म काई पो छे में ईशान भट्ट के रोल के लिए सुशांत को डायरेक्टर अभिषेक बनर्जी ने अप्रोच किया और इस तरह सुशांत सिंह ने बॉलीवुड में कदम रखा। चार्मिंग लूक्स, दिलकश मुस्कान और दमदार एक्टिंग से सुशांत सिंह ने पीके, एमएस धोनी-द अनटोल्ड स्टोरी, केदारनाथ और छिछोरे जैसी फिल्मों के जरिये लोगों को दीवाना बनाया। ऐसा कहा जाता था कि एक नए सुपरस्टार का जन्म हो चुका है।

250 से सात करोड़ रुपये का सफर

कभी 250 रुपये में काम करने वाले सुशांत सिंह ने ऐसी कामयाबी देखी जब उन्हें एक फिल्म के 5 से 7 करोड़ रुपये मिलते थे। उन्होंने पाली हिल में 20 करोड़ रुपये का पेंटहाउस खरीदा। उनके कार कलेक्शन में 1.5 करोड़ की मसेराटी क्वाट्रोपोर्टो लग्जरी कार थी। 25 लाख की बीएमडब्ल्यू बाइक भी थी।

दो बार की मोहब्बत

सुशांत सिंह राजपूत की रील में अनुष्का शर्मा, कृति सेनन, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर जैसी एक्ट्रेस के साथ जोड़ी खूब पसंद की गई। लेकिन रियल जिंदगी में वो अपनी लव लाइफ की वजह से चर्चा में रहते थे। पवित्र रिश्ता के शो दौरान उनकी मुलाकात अंकिता लोखंडे से हुई। दोनों में दोस्ती हुई। उन्होंने साल 2011 में शादी के लिए एक-दूसरे को प्रपोज किया। पांच साल लिव-इन रिलेशन में रहने का बाद 2016 में सुशांत सिंह ने कहा कि दिसंबर में अंकिता से शादी करने जा रहे हैं। लेकिन इससे पहले ये रिश्ता टूट गया। इसके बाद उनकी जिंदगी में रिया चक्रवर्ती आई। दोनों की पहली मुलाकात साल 2013 में हुई थी। दोनों में दोस्ती हुई मुलाकातें बढ़ी। अंकिता के साथ लिव-इन में रहते हुए सुशांत रिया से लगातार बातें करते थे। पर उनसे भी शादी नहीं हो पाई।

बनाने वाले थे 12 बायोपिक फिल्में

साल 2018 में सुशांत ने दो लोगों के साथ मिलकर इन्नासई वेंचर की नींव रखी। इस कंपनी में सुशांत 300 करोड़ का इन्वेस्टमेंट करने वाले थे। सुशांत रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती के साथ साल 2019 में विविड्रेज रियाल्टिक्स  रजिस्टर करवाया था। इस कंपनी के नाम की स्पेलिंग रिया के नाम पर थी। वो इसी कंपनी के तरह 12 बायोपिक फिल्में बनाने वाले थे।

जब एक खबर से हिला बॉलीवुड

सब कुछ ठीक था। पर एक खबर आती है जिसके बाद पूरा बॉलीवुड हिल जाता है। 14 जून साल 2020 – सुशांत सिंह राजपूत का शव उनके में बांद्रा वाले घर में मिलता है। किसी ने कहा कि उनकी हत्या हुई है, तो किसी ने कहा कि वो लंबे समय से डिप्रेशन में थे और ऐसे में उन्होंने सुसाइड कर लिया। सिर्फ 34 साल की उम्र में सुशांत सिंह राजपूत दुनिया छोड़कर चले गए। उनकी मौत की गुत्थी आज भी अनसुलझी है। मौत से 8 महीने पहले सुशांत ने अपने 50 सपनों का जिक्र सोशल मीडिया पर किया था। इनमें से उनके सिर्फ 11 सपने पूरे हो पाए और 39 अधूरे रह गए थे।

50 में 39 सपने जो अधूरे रह गए

1-मोर्स कोड सीखना।

2-बच्चों को अंतरिक्ष के बारे में जानने में मदद करना।

3-एक चैंपियन के साथ टेनिस खेलना।

4-फोर क्लैप पुश-अप करना।

5-एक हफ्ते तक चांद, मंगल, बृहस्पति और शनि ग्रह पर घूमना।

6-डबल-स्लिट एक्सपेरिमेंट करना।

7-1000 पेड़ लगाना।

8-कैलाश पर ध्यान करना।

9-एक चैंपियन के साथ पोकर खेलना।

10-किताब लिखना।

11-नासा वर्कशॉप का हिस्सा बनना।

12-छह महीने में 6 एब्स पैक बनाना।

13-सेनोट्स में तैरना।

14-ब्लाइंड लोगों को कोडिंग सिखाना।

15-जंगल में एक सप्ताह बिताना।

16-वैदिक ज्योतिष समझना।

17-LIGO जाना और वहां से सनसेट देखना।

18-घोड़े पालना।

19-कम से कम 10 डांस फॉर्म सीखना।

20-एजुकेशन के लिए फ्री में काम करना।

21-लोटस पोजीशन में क्रिया योग सीखना।

22-अंटार्कटिका फ्लैग देखने के लिए अंटार्कटिका जाना।

23-धधकते ज्वालामुखी को कैप्चर करना।

24-खेती सीखना।

25-बच्चों को डांस सिखाना।

26-रेसनिक – हॉलिडे फिजिक्स किताब को पूरा पढ़ कर खत्म करना।

27-पॉलिनेशियन एस्ट्रोनॉमी को समझना।

28-50 फेवरेट सॉन्ग के लिए गिटार कॉर्ड सीखना।

29-चैंपियन के साथ शतरंज खेलना।

30-एक लेम्बोगिनी खरीदना।

31-वियना में सेंट स्टीफन कैथेड्रल जाना।

32-इंडियन डिफेंस फोर्स के लिए बच्चों को तैयार करना।

33-स्वामी विवेकानंद पर एक डॉक्यूमेंट्री बनाना।

34-सर्फ करना सीखना।

35-एआई और एक्सपोनेंशियल टेक्नोलॉजी में काम करना।

36-कैफोरिया सीखना।

37-ट्रेन से पूरा यूरोप घूमना।

38-अरोरा बोरेलिस को पेंट करना।

39-100 बच्चों को ISRO/NASA में वर्कशॉप के लिए भेजना।

50 में जो 11 सपने हुए पूरे

1-हवाई जहाज उड़ाना सीखना।

2-आयरनमैन ट्रायथलॉन में पार्टिसिपेट करना।

3-बाएं हाथ से क्रिकेट मैच खेलना।

4-एक बेहतर तीरंदाज बनना।

5-डिज्नीलैंड जाना।

6-सर्न पर जाना I

7-सीमेटिक्स एक्सपेरिमेंट करना।

8-महिलाओं को आत्मरक्षा के लिए मार्शल आर्ट सिखाना।

9-दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग हॉस्टल में एक शाम बिताना।

10-एक शक्तिशाली टेलीस्कोप से एंड्रोमेडा को एक्सप्लोर करना।

11-ब्लू-होल में गोता लगाना।

सुनता सब की हूं लेकिन दिल से लिखता हूं, मेरे विचार व्यक्तिगत हैं।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!