T-20I से खत्म हुआ Rohit-Kohli युग, खिताब के साथ मिला यादगार फेयरवेल, बनाए ये बड़े Records

Home   >   रनबाज़   >   T-20I से खत्म हुआ Rohit-Kohli युग, खिताब के साथ मिला यादगार फेयरवेल, बनाए ये बड़े Records

21
views
https://youtu.be/3KEIM295sQU?si=CT27k3MFUzEEPnTQ

29 जून 2024 की वो रात जब पूरा हिंदुस्तान सड़कों पर टीम इंडिया की जीत का जश्न मना रहा था. ये जीत कोई मामूली जीत नहीं थी, टीम इंडिया ने विदेशी धरती पर खूटा गाड़ते हुए 17 साल के लम्बे अंतराल के बाद वो खुशी दी जिसे शब्दों में बयां करना आसान नहीं है. संघर्षों से गुजरकर रोहित सेना ने वो मुकाम हासिल कर लिया जो हर भारतीय का सपना था. टीम इंडिया ने T-20 वर्ल्ड कप फाइनल में 'चोकर्स' की हालत पस्त करते हुए 7 रनों से शानदार जीत दर्ज की. इस जीत के बाद देश का कोई कोना ऐसा नहीं बचा जहां जश्न न मना हो, क्या बच्चा, तो क्या बूढ़े, हर किसी ने भारत की जीत को सेलीब्रेट किया. रोहित ने तो बीच मैदान में शान से तिरंगा लहराया जिसके बाद हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया. हालांकि इस जीत के बाद टीम इंडिया को दो ऐसे झटके भी लगे जिसके बारे में उन्होंने सोचा भी नहीं था, कोहली के बाद रोहित शर्मा ने T-20 क्रिकेट से संन्यास लेते हुए सबको हैरान कर दिया. जैसे राहुल द्रविड़ की हैप्पी एंडिंग हुई कुछ वैसे ही रोहित-कोहली का जो सपना था वो पूरा हुआ और इसके बाद दोनों महान खिलाड़ियों ने T-20 क्रिकेट से संन्यांस ले लिया. इन दोनों खिलाड़ियों ने स्वर्णिम अक्षरों से ऐसा इतिहास लिखा है जिसे सदियों तक जमाना याद रखेगा. हालांकि दोनों की दोस्ती के चर्चे भी पूरे क्रिकेट जगत में छाए हुए है.

 बता दें विश्व विजेता बनने के बाद रोहित शर्मा ड्रेसिंग रूम की ओट में चले गए और अपने आंसू पोंछते हुए बाहर आए. बाहर निकलते हुए वो कोहली से गले लगे और आंखों ही आंखों में शायद कहा- कर दिखाया. ये आंसू खुशी के थे. चेहरे पर दुनिया जीत लेने की खुशी थी. रिपोर्ट्स की मानें तो टीम इंडिया के ओपनर्स रोहित शर्मा और विराट कोहली ने इस मैच में कई रिकॉर्ड्स बनाए, ये 8वां मौका था. जब रोहित शर्मा और विराट कोहली किसी ICC टूर्नामेंट का फाइनल खेले हो, क्रिकेट के इतिहास में किसी भी खिलाड़ी ने इनसे ज्यादा ICC टूर्नामेंट के फाइनल मैच नहीं खेला है. इन दोनों ने युवराज सिंह को पीछे छोड़ा. युवराज सिंह 7 ICC फाइनल खेलने वाली टीम इंडिया का हिस्सा रहे हैं.  

अगर दोनों खिलाड़ियों के क्रिकेट करियर पर नजर डालें तो विराट दुनिया के उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं, जिन्होंने अपने दम पर करियर को आसमान तक पहुंचाया. इसके साथ-साथ टीम का भी परचम बुलंद रहा. विराट कोहली ने अपने टी20 इंटरनेशनल करियर की शुरुआत 12 जून 2010 को की थी. अब 14 साल बाद जून में ही अपना आखिरी मैच भी खेला. उन्होंने 125 मैचों में 4188 रन बनाए हैं. वो रोहित शर्मा के बाद इस प्रारूप में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में दूसरे नंबर पर हैं. उन्होंने इस दौरान 1 शतक और 38 अर्धशतक लगाए हैं. कोहली का सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 122 रन रहा है.  कोहली टी20 विश्व कप के इतिहास में सबसे ज्यादा 1292 रन बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं. उनके नाम टी20 विश्व कप में सबसे ज्यादा 15 अर्धशतक भी हैं. कोहली टीम इंडिया के लिए एक भरोसे की तरह रहे हैं. हालांकि उनके लिए ये टी-20 विश्व कप अच्छा नहीं रहा. लेकिन उन्होंने फाइनल में 76 रनों की पारी खेलकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई.

 

आंकड़ों को देखें तो विराट कोहली सबसे ज्यादा 4 अलग-अलग ICC ट्रॉफी जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने हैं. विराट ने 2008 में अंडर-19 वर्ल्ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्ड कप, 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी और 2024 में टी-20 वर्ल्ड कप जीता है. युवराज के पास भी 4 अलग-अलग ICC ट्रॉफी हैं, लेकिन 2002 की चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम श्रीलंका के साथ संयुक्त विजेता रही है. टीम ने वो टूर्नामेंट नहीं जीता था.

इसके साथ ही विराट कोहली टी-20 इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच बनने वाले खिलाड़ी बने. वे 16वीं बार प्लेयर ऑफ द मैच चुने गए हैं. कोहली ने सूर्यकुमार यादव के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ा. रोहित की बात करें तो वे भी दमदार प्लेयर के रूप में उबरे और इसके बाद सफल कप्तान भी साबित हुए. रोहित शर्मा ने 19 सितंबर, 2007 में टी20 इंटरनेशनल में डेब्यू किया था. रोहित हमेशा से ताबड़तोड़ बैटिंग के लिए मशहूर रहे हैं. वे स्थिति को देखकर खेलते हैं. लेकिन ज्यादातर समय अटैकिंग अप्रोच के साथ नजर आए. रोहित ने भारत के लिए 159 टी20 मैच खेले. इस दौरान 4231 रन बनाए. उन्होंने इस फॉर्मेट में 5 शतक और 32 अर्धशतक लगाए. रोहित का सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 121 रन रहा. उन्होंने कई यादगार पारियां खेली हैं. अहम बात ये है कि उनकी बैटिंग भारत को मुश्किल परिस्थिति में जीत दिलाने में कामयाब भी रही है.

 

आंकड़ों को देखें तो रोहित शर्मा सबसे ज्यादा टी-20 इंटरनेशनल मैच जीतने वाले भारतीय कप्तान बने हैं. उन्होंने 50वें मैच में टीम इंडिया को जीत दिलाई है. रोहित के बाद पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने पाकिस्तान को बतौर कप्तान 48 टी-20 मैच जिताए हैं. रोहित शर्मा ने करियर में 9वीं टी-20 ट्रॉफी जीतने वाले कप्तानों की सूची में एमएस धोनी की बराबरी कर ली है. दोनों ने 9-9 टी-20 टूर्नामेंट जीते हैं. 'हिटमैन' के नाम से मशहूर रोहित शर्मा भारत को वर्ल्‍ड कप चैंपियन बनाने वाले तीसरे कप्‍तान बन गए हैं. रोहित शर्मा अब कपिल देव और एमएस धोनी के स्‍पेशल क्‍लब में जुड़ गए है

हालांकि दोनों के करियर में कई उतार चढ़ाव के साथ मनमुटाव की खबरें सामने आई, लेकिन दोनों ने शांति से हर परस्थिति को संभाला और जोरदार वापसी भी की. दोनों के बीच विवाद की भी खबरें आई लेकिन कभी किसी ने एक दूसरे के लिए कुछ भी नहीं कहा. दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के साथ मिलकर देश के लिए खेलें और टीम इंडिया को शानदार जीत दिलाई. आपको बता दें विराट कोहली और रोहित शर्मा का मैदान पर आना फैंस के लिए मनोरंजन की गारंटी की तरह रहा है. हालांकि ये अलग बात है कि वे कभी-कभी जल्दी ही आउट हो गए. लेकिन इन दोनों ही खिलाड़ियों ने ताबड़तोड़ पारियों के साथ फैंस का खूब मनोरंजन किया है. लेकिन अब रोहित और विराट ने संन्यास ले लिया है. लिहाजा फैंस इन्हें इस फॉर्मेट के लिए जरूर याद करेंगे.

कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!