श्रेयस अय्यर और ईशान किशन बीसीसीआई कॉट्रैक्ट से बाहर, वापसी के लिए कौन सा प्लान आएगा काम?

Home   >   रनबाज़   >   श्रेयस अय्यर और ईशान किशन बीसीसीआई कॉट्रैक्ट से बाहर, वापसी के लिए कौन सा प्लान आएगा काम?

26
views

बीसीसीआई रिकमेंड करती है कि सभी एथलीट उस अवधि के दौरान घरेलू क्रिकेट में भाग लेने को प्राथमिकता दें, जब वो नेशनल टीम का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे हों

बीसीसीआई एनुअल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से 7 खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाया गया। इन खिलाड़ियों में श्रेयस अय्यर और ईशान किशन भी शामिल हैं। बीसीसीआई प्रेस रिलीज में नोट लिखकर बताया कि श्रेयस अय्यर और ईशान किशन को एनुअल कॉन्ट्रैक्ट के लिए कंसीडर नहीं किया गया। ऑफिशियली दोनों खिलाड़ियों को बाहर करने की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन इसका जवाब भी, एनुअल कॉन्ट्रैक्ट रिलीज में है। बीसीसीआई की तरह से आखिर में लिखा गया कि ‘बीसीसीआई रिकमेंड करती है कि सभी एथलीट उस अवधि के दौरान घरेलू क्रिकेट में भाग लेने को प्राथमिकता दें, जब वो नेशनल टीम का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे हों’।

एनुअल कॉट्रैक्ट से बाहर होने वाले खिलाड़ियों में ईशान किशन और श्रेयस अय्यर के अलावा चेतेश्वर पुजारा, दीपक हुड्डा, शिखर धवन, उमेश यादव और यजुवेंद्र चहल का नाम भी है। लेकिन बीते दिनो श्रेयस अय्यर और ईशान किशन के रणजी में न खेलने पर सवाल उठे थे, जिसके बाद ये बीसीसीआई का डिसिप्लिनरी एक्शन माना जा रहा है। हालांकि रणजी न खेलने के सवालों के बीच श्रेयस अय्यर ने रणजी में खेलने की बात कही। उन्होंने रणजी क्वार्टर फाइनल मिस किया, जबकि 2 मार्च को होने वाले रणजी सेमीफाइनल में, रिपोट्स के मुताबिक, श्रेयस टीम का हिस्सा होंगे। वहीं, ईशान किशन की टीम रणजी टूर्नामेंट से ही बाहर है। 

श्रेयस अय्यर को एनुअल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर किए जाने पर सवाल उठ रहे हैं। वर्ल्डकप 2023 में श्रेयस ने 530 रन बनाए थे। सेमीफाइनल में सेचुंरी लगाई थी। और इंग्लैंड के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में वो दूसरे मैच तक टीम का हिस्सा थे। जिसके बाद भी अब वो कॉन्ट्रैक्ट से बाहर है। तब से फैंस लगातार इस फैसले पर सवाल उठा रहे हैं। हालांकि बीसीसीआई का ये स्पेट भारतीय डोमेस्टिक क्रिकेट के जान फूंकने वाला साबित हो सकता है, जैसा टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने कहा कि ’तेज़ गेंदबाज़ी’ अनुबंध के साथ गेम-चेंजिंग कदम। इस साल के आखिर में डाउन अंडर की तैयारी में एक महत्वपूर्ण कदम। टेस्ट क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट पर जोर एक शक्तिशाली संदेश है, जो हमारे प्रिय खेल के भविष्य के लिए सही दिशा तय करता है! दूसरे ट्वीट में उन्होंने ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को लेकर लिखा क्रिकेट के खेल में, कमबैक्स भावना को परिभाषित करते हैं। चुनौतियों का सामना करो और, भी मजबूत होकर वापस आओ। आपकी पिछली उपलब्धियां बहुत कुछ कहती हैं, और मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि आप एक बार फिर जीत हासिल करेंगे।

कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर के खिलाड़ियों को टीम में मौका दिया जा सकता है, यानी डोमेस्टिक क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन, आईपीएल में अच्छी पारियां खेलकर वो टीम में वापसी कर सकते हैं। सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ी को बीसीसीआई फिक्स सैलरी देती है। इसके अलावा उन्हें मैच फीस मिलता है। अब अगर अय्यर या ईशान भारत के लिए खेलते हैं तो उन्हें सिर्फ मैच फीस ही मिलेगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इससे उन्हें कॉन्ट्रैक्ट तो नहीं, लेकिन मैच फीस मिलेगी। और अगर वो प्रो-राटा अनुबंध के सारे मानदंडों को पूरा करते हैं। यहां प्रो राटा से मतलब है कि जब तय या निश्चित वक्त के अंदर अगर कोई खिलाड़ी 3 टेस्ट, 8 वनडे या 10 टी-20 खेल लेता है, तो सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट सी ग्रेड में शामिल किया जाता है। 

ध्रुव जुरेल और सरफराज खान के साथ धर्मशाला टेस्ट में हो सकता है। अगर आगामी धर्मशाला मैच में की प्लेइंग इलेवन में ध्रुव जुरेल और सरफराज खान को जगह मिल जाती है, तो दोनों खिलाड़ियों को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में सी ग्रेड में जगह मिल जाएगी। आपको बता दें कि बीसीसीआई एनुअल कॉन्टैक्ट में ए प्लस कैटगरी वाले खिलाड़ियों को 7 करोड़, ए कैटेगरी वाले खिलाड़ियों को 5 करोड़, बी कैटगरी वाले खिलाड़ियों को 3 करोड़ और सी कैटगरी वाले खिलाड़ियों को 1 करोड़ मिलते हैं। श्रेयस अय्यर ग्रेड बी और ईशान किशन ग्रेड सी कैटगरी में थे। ए प्लस कैटेगरी ही इकलौती कैटेगरी है, जिसमें कोई फेरबदल नहीं की गई हैं। वहीं, केएल राहुल, शुभमन गिल और मोहम्मद सिराज को ग्रेड ए में प्रमोट किया गया है। जबकि एक्सीडेंट का शिकार हुए ऋषभ पंत को ग्रेड बी में है। अक्षर पटेल पिछले सीजन में ग्रेड ए में थे। इस बार उन्हें ग्रेड बी में रखा गया। कुलदीप यादव को सी से बी ग्रेड में प्रमोट किया गया है। 

बैक-टू बैक दो डबल सेंचुरी बनाने वाले यशस्वी जायसवाल को पहली बार कॉन्ट्रैक्ट मिला है और वो सीधे बी ग्रेड में शामिल हुए हैं। 10 खिलाड़ियों को पहली बार जगह मिली है। इसमें रिंकू सिंह, तिलक वर्मा, ऋतुराज गायकवाड़, शिवम दुबे, रवि बिश्नोई, जितेश शर्मा, मुकेश कुमार, प्रसिद्ध कृष्णा, आवेश खान और रजत पाटीदार इनमें शामिल हैं। वहीं, शार्दुल ठाकुर, वाशिंगटन सुंदर, संजू सैमसन, अर्शदीप सिंह और केएस भरत सी ग्रेड में अपनी जगह बचाने में कामयाब रहे हैं। 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!