IPL के Opening Match में छाए Uttarakhand के Anuj Rawat,Dhoni के Bowlers के पसीने छुड़ा दिए!

Home   >   रनबाज़   >   IPL के Opening Match में छाए Uttarakhand के Anuj Rawat,Dhoni के Bowlers के पसीने छुड़ा दिए!

21
views

16 साल पुराने जिस बदले को लेने के लिए मैदान में RCB की टीम चेपॉक स्टेडियम में उतरी थी वो पूरा नहीं हो सका. IPL के ओपनिंग मैच में धोनी के धुरंधरों ने RCB को मात दी और 6 विकेट से CSK ने मैच जीतकर परचम लहराया. हालांकि एक खिलाड़ी RCB के पास ऐसा भी था जिसने धोनी के गेंदबाजों को न सिर्फ सबक सीखाया. बल्कि अपनी टीम के लिए एक चट्टान बनकर मैदान में डटे रहे, जो काम टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसी से लेकर मैक्सवेल, कोहली तक नहीं कर सके उसे पूरा कर दिखाया और RCB का सम्मान बचाया. अपनी गेम के साथ नेम का भी डंका पीट दिया है. इस खिलाड़ी का नाम है अनुज रावत, जिसे क्रिकेट का दूसरा ऋषभ पंत कहा जाता है. इसकी कहानी भी बड़ी दिलचस्प है. 

CSK की ओर से खेलने वाले 24 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज अनुज रावत ने 192 की स्ट्राइक रेट से 25 गेंदों पर 48 रन बनाए, जिसमें 3 छक्के और 4 चौके शामिल रहे. ये CSK और RCB के बीच खेले IPL 2024 के ओपनिंग मैच में किसी बल्लेबाज के बल्ले से निकला सबसे बड़ा स्कोर रहा. रावत ने दिनेश कार्तिक के साथ छठे विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी भी की, जिसने RCB को 78/5 से 20 ओवर में 173/6 के स्कोर पर तक पहुंचने में मदद की. भले ही RCB ये मैच नहीं जीत सकी लेकिन मुश्किल हालांतों में फंसी अपनी टीम के लिए अनुज रावत ने जो किया, उसे सबने गौर किया. रिपोर्ट्स की मानें तो अनुज रावत को RCB ने IPL 2022 से पहले हुए मिनी ऑक्शन में 3.40 करोड़ रुपये में खरीदा था. जहां तक अनुज रावत के IPL डेब्यू की बात है तो ये देखने मिला था साल 2021 में जब उन्होंने राजस्थान रॉयल्स की ओर से सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेला था. तब राजस्थान की टीम ने अनुज रावत को 80 लाख रुपये में खुद से जोड़ा था. लेकिन, अगले ही सीजन रावत RR से RCB के हो गए. वो लखपति से करोड़पति क्रिकेटर बन गए.

IPL की बदौलत अनुज रावत आज भले ही करोड़पति क्रिकेटर बन चुके हैं. लेकिन उनके क्रिकेटर बनने और IPL तक पहुंचने का सफर उतना भी आसान नहीं रहा. 24 साल के अनुज जब सिर्फ 10 साल के थे तभी अपने शहर रामनगर, जो कि नैनीताल के पास है, वहां से दिल्ली आ गए. अनुज के पिता किसान थे. ऐसे में उन्हें खेतों में क्रिकेट खेलने का मौका मिल जाता था. चूंकि पिता भी लोकल क्रिकेटर रह चुके थे, तो उन्हें अपने बेटे के अंदर का क्रिकेट प्रेम भी साफ नजर आया. लिहाजा, उन्होंने अनुज को इस खेल में आगे बढ़ाने का मन बनाया. और, इसके लिए बेहतर प्रशिक्षण दिलाने का फैसला किया.

अपने फैसले को अमलीजामा पहनाने के मकसद से पिता, बेटे अनुज को दिल्ली ले आए. यहां उन्होंने उनका दाखिला वेस्ट दिल्ली क्रिकेट एकेडमी में करा दिया. यही वो एकेडमी है, जहां से विराट कोहली ने भी क्रिकेट का ककहरा सीखा है. मतलब ये कि विराट और अनुज दोनों ही जाने-माने कोच राजकुमार शर्मा के शागिर्द हैं. इस तरह ये दोनों क्रिकेटर आपस में गुरुभाई बने. राजकुमार शर्मा की देख-रेख में अनुज रावत का क्रिकेट करियर शुरू हुआ. एज ग्रुप क्रिकेट में तो वो टॉप तीन पर बल्लेबाजी करते. लेकिन उनकी बड़ी ताकत ये थी कि वो किसी भी ऑर्डर पर खेल सकते थे. आगे चलकर उन्होंने विराट की ही तरह भारत की अंडर 19 टीम की कप्तानी भी की. साल 2016-17 में रावत ने दिल्‍ली की अंडर 19 टीम में जगह बनाई थी. अगले सीज़न रणजी डेब्‍यू भी कर लिया और जल्‍द ही एशिया कप अंडर 19 भी खेल गए, उन्होंने रणजी ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में टूटी उंगली के साथ 74 रन बनाए थे. वही सीज़न जिसमें यशस्‍वी जायसवाल, तिलक वर्मा और रवि बिश्‍नोई जैसे खिलाड़ी निकलकर आए. IPL में अनुज रावत के अब तक 20 मैचों में 268 रन बनाए है. अब अगले मैच में वो क्या कमाल दिखाते है ये देखने वाली बात होगी.

कानपुर का हूं, 8 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं, पॉलिटिक्स एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करता हूं, बेहतर कल की उम्मीद में खुद की तलाश करता हूं.

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!