पाकिस्तान सरकार को वर्ल्ड कप में अपनी टीम की सुरक्षा का डर क्यों है? ये है वजह

Home   >   रनबाज़   >   पाकिस्तान सरकार को वर्ल्ड कप में अपनी टीम की सुरक्षा का डर क्यों है? ये है वजह

125
views

अब फिर पाकिस्तान पिटने के लिए हिंदुस्तान की सरजमी पर आ रहा है। पाकिस्तान सरकार ने इंडिया में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप 2023 में अपनी टीम को जाने की मंजूरी दे दी है। 7 साल बाद पाकिस्तान की टीम भारत आएगी, इससे पहले आखिरी बार साल 2016 के टी-20 वर्ल्ड कप में भारत आई थी। हालांकि पाकिस्तान का विदेश मंत्रालय टीम की सुरक्षा को लेकर ढ़ोंग कर रहा है। उसका कहना है कि भारत में हम अपनी टीम की सुरक्षा को लेकर काफी चिंतित हैं। ये मुद्दा हमने ICC और भारतीय अधिकारियों के सामने उठाया है, हम उम्मीद जता रहें हैं कि पाकिस्तानी टीम को भारत दौरे पर पूरी सुरक्षा मिलेगी। ऐसे में अब सवाल उठता है कि खुद के देश पाकिस्तान में साल 2009 में श्रीलंकाई टीम पर आतंकी हमला हो जाता है और भारत जैसे सुरक्षित देश में अपनी टीम की भेजने में इन्हें सुरक्षा का डर सता रहा है।

वर्ल्ड कप 2023 में भारत और पाकिस्तान के बीच हाईवोल्टेज मुकाबला 14 अक्टूबर को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाएगा। लेकिन दोनों के बीच मुकाबला सिर्फ मैदान तक ही सीमित नहीं रहा है बल्कि मैदान के बाहर भी काफी ड्रामा होता है। भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैचों के दौरान कई मौके ऐसे आए हैं, जब राजनीतिक दलों ने इसका विरोध करते हुए मैच को रोकना चाहा है और ज्यादातर मौकों पर ये दल सफल भी हुए हैं। 

इंडिया टुडे की रिपोर्ट की मुताबिक 90 के दशक से सन 2000 तक भारत-पाकिस्तान के मैच को बाधित करने की सफल कोशिशें हुई हैं। 1991 में शिवसैनिकों ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत-पाकिस्तान का मैच नहीं होने देने के लिए मैदान की पिच तक खोद दी थी, जिसके बाद पाकिस्तान को अपना दौरा रद्द करना पड़ा था।

ये घटना भारत-पाकिस्तान वनडे सीरीज शुरू होने से दो दिन पहले हुई थी। मैच से दो दिन पहले शिवसैनिकों का एक ग्रुप वानखेड़े में जाकर पिच खोद आया और पिच पर इंजन ऑयल डाल दिया था। उस वक्त बालासाहेब ठाकरे ने इस काम का समर्थन किया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, साल 1991 में पिच खोदे जाने के बाद 1993 और 1994 में भी पाकिस्तान के दो दौरे रद्द कर दिए गए थे। फिर 1998 में जब महाराष्ट्र की सत्ता में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की सरकार थी तो शिवसेना ने जनवरी 1999 में मुंबई में खेले जाने वाले भारत-पाकिस्तान टेस्ट मैच को रद्द करने की धमकी दी थी। हालांकि बीजेपी ने अपनी सहयोगी पार्टी शिवसेना की मांग का विरोध किया था, लेकिन शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे की मांग के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर जोशी ने मैच को रद्द करने का आदेश दिया था।

1990 और 2000 के दशक की शुरुआत में, भारत और पाकिस्तान के नेताओं ने संबंधों को शांत करने के लिए क्रिकेट की ओर रुख किया था। उस वक्त के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने न्यूयॉर्क में नवाज शरीफ से मुलाकात की थी और दोनों नेता जनवरी-फरवरी में 1999 में दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने के लिए सहमत हुए थे और ये सीरीज भारत में होनी थी, लेकिन शिवसेना ने इस पर भी आपत्ति जताई।

दिल्ली के तब के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम और आज के अरूण जेटली स्टेडियम में मुकाबला था। मैच से पहले 25 शिवसैनिकों ने पिच खोद दिया था और धमकी दी कि अगर मैच करवाया गया तो वो मैदान में ज़हरीले सांप छोड़ देंगे। BCCI ने रातोंरात पिच को ठीक करवाया और धमकी को देखते हुए स्टेडियम की सुरक्षा में 20 सपेरों को भी तैनात किया गया थाबाद में पांच दिन तक टेस्ट मैच चला जो ऐतिहासिक साबित हुआ। ये वही मैच था जब कुंबले ने पाकिस्तान की पूरी टीम को अपने बूते पर आउट कर दिया था और मैच में 10 विकेट लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था।

कुछ साल बीत जाने के बाद भारत-पाकिस्तान क्रिकेट संबंध 2008 के बाद से फिर खराब हो गए थे। मुंबई आतंकी हमले के बाद शिवसेना फिर मुखर हो गई और उसने IPL के दूसरे सीजन में पाकिस्तानी खिलाड़ियों का बॉयकाट करने की मांग की। इसके बाद से कोई भी पाकिस्तानी खिलाड़ी आजतक IPL में नहीं खेल सका है।

मुंबई हमले के बाद से दोनों देशों की टीमों ने एक दूसरे के देश में जाकर खेलना बंद कर दिया था। हालांकि आखिरी बार 2016 टी-20 वर्ल्ड कप के लिए पाकिस्तान की टीम भारत आई थी। उसके बाद से अभी तक दोनों टीमें ICC के टूर्नामेंट्स में ही आपस में भिड़ती दिखी हैं। 

इंडिया में भले ही शिवसेना पाकिस्तान टीम के साथ मैच खेलने का विरोध करती रही है। लेकिन आज तक कभी भी उसने खिलाड़ियों को नुकसान नहीं पहुंचाया है। शायद यही वजह है कि पाकिस्तान को छोड़कर बाकी देशों की टीमें बिना हिचक के भारत आती हैं।

फिलहाल 5 अक्टूबर से 19 नवंबर तक चलने वाले वर्ल्ड कप 2023 के लिए पाकिस्तान की टीम भारत आ रही है। क्रिकेट फैंस को 14 अक्टूबर को दोनों टीमों के बीच होने वाले मैच का इंतजार है। 

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!