AISHE Report: हायर एजुकेशन में बढ़ी लड़कियों की संख्या

Home   >   Woमंच   >   AISHE Report: हायर एजुकेशन में बढ़ी लड़कियों की संख्या

161
views

साल 2014 से अब तक मोदी सरकार के आने के बाद अलग- अलग क्षेत्रों में बदलाव आए है। रोजगार के मुद्दे पर भले ही क्रेंद सरकार को घेरा जाए, लेकिन हायर एजुकेशन को लेकर सरकार के द्वारा जारी किए आंकड़े उत्साह बढ़ाने वाले हैं। साल 2014 से पहले और अब कि स्थितियों में इस सर्वें के मुताबिक बड़ा अंतर आया है। नए आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल कॉलेज खुलने के साथ ही इसमें इनरोल करने वाले छात्रों की संख्या भी काफी बढ़ी है। 

एजुकेशन को लेकर उठाए गए कदमों का फायदा गर्ल्स को मिल रहा है। जिसकी गवाही सर्वे के आंकड़े देते हैं। दरअसल, शिक्षा मंत्रालय की ओर से उच्च शिक्षा को लेकर ऑल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजुकेशन यानी कि AISHE 2021-22 की रिपोर्ट जारी की गई है। इस सर्वे में और क्या कुछ लेखा-जोखा सामने आया है, आइए जानते हैं। 

हायर एजुकेशन में दाखिला लेने में लड़कियों ने अब लड़कों को पीछे छोड़ दिया है। हायर एजुकेशन के लिए साल 2020-21 में कुल नामांकन 4.14 करोड़ था, जो 2021-22 में 4.33 करोड़ हो गया है। जबकि साल 2014-15 में ये 3.42 करोड़ था। महिला नामांकन 2020-21 में 2.01 करोड़ से बढ़कर 2021-22 में 2.07 करोड़ हो गया है। 

वहीं, एससी महिला छात्रों का नामांकन 2014-15 में 21.02 लाख, 2020-21 में 29.01 लाख था। जो 2021-22 में बढ़कर 31.71 लाख हो गया है। साथ ही एसटी छात्रों का नामांकन 2014-15 में 16.41 से 2021-22 में 27.1 लाख हो गया है। इसमें सीधे तौर पर 65.2% की बढ़त हुई है। एसटी महिला छात्रों के मामले में 2014-15 में नामांकन 7.47 लाख, 2020-21 में 12.21 लाख था। जोकि 2021-22 में 13.46 लाख हो गया है। साथ ही ओबीसी छात्रों का नामांकन 2014-15 में 1.13 करोड़ था, जोकि 2021-22 में 1.63 करोड़ हो गया है। साल 2014-15 के बाद से ओबीसी छात्र नामांकन में लगभग 50.8 लाख की उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

अल्पसंख्यक छात्र नामांकन 2014-15 में 21.8 लाख से बढ़कर 2021-22 में 30.1 लाख हो गया। वहीं, रिपोर्ट में पूर्वोत्तर राज्यों की भी बात की गई। पूर्वोत्तर राज्यों में कुल छात्र नामांकन 2014-15 में 9.36 लाख की तुलना में 2021-22 में 12.02 लाख है। इसमें 2021-22 में महिला नामांकन 6.07 लाख और पुरुष नामांकन 5.95 लाख से ज्यादा है। 

इसी के साथ ही पीएचडी नामांकन 2014-15 में 1.17 लाख की तुलना में 81.2% बढ़त के साथ 2021-22 में 2.12 लाख हो गया है। साथ ही साथ साल 2021-22 में यूजी, पीजी, एम.फिल और पीएचडी स्तर पर एसटीईएम में नामांकित छात्रों की कुल संख्या 98.5 लाख है, जबकि 2020-21 में ये 94.7 लाख थी।

संस्थानों की संख्या 

साथ ही सर्वे में संस्थानों की संख्या पर भी बात की गई। इसमें विश्वविद्यालय स्तर के संस्थानों की कुल संख्या 1,168 हैं, कॉलेजों की संख्या 45,473 और स्वायत्त जिसे स्टैंडअलोन भी कहते हैं, ऐसे संस्थानों की संख्या 12,002 है। 

फैकल्टी 

वहीं, इसकी फैकल्टी यानी कि शिक्षक के बारे में भी बताया गया। जिसमें 2021-22 में शिक्षकों की कुल संख्या 15.98 लाख है। इनमें करीब 56.6% पुरुष और 43.4% महिलाएं हैं। महिला शिक्षकों की संख्या 2014-15 में 5.69 लाख से, 22 परसेंट बढ़त के साथ बढ़कर 2021-22 में 6.94 लाख हो गई है। लेकिन अगर देखा जाए, तो प्रति 100 पुरुष में महिलाओं की संख्या में मामूली सुधार हुआ है, जो 2020-21 में 75 से बढ़कर 2021-22 में 77 हो गया है। 

सबसे ज्यादा कॉलेज वाले राज्य 

ऑल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजुकेशन 2021-22 के मुताबिक, देश में सबसे अधिक कॉलेज वाले राज्यों की गिनती में उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर है। उत्तर प्रदेश में  8375 कॉलेज है। जबकि दूसरे नंबर पर 4692 कालेज के साथ महाराष्ट्र, तीसरे नंबर पर 3934 कॉलेज के साथ राजस्थान, चौथे नंबर पर 2829 कॉलेज के साथ तमिलनाडु और पांचवें पर 2742 कॉलेज के साथ मध्य प्रदेश है।   

सबसे ज्यादा कॉलेज वाले शहर 

वहीं, सर्वे में किस शहर में सबसे ज्यादा कॉलेज हैं, ये भी बताया गया। इसमें बेंगलुरु में सबसे ज्यादा 1106 कॉलेज, जयपुर में 703 कॉलेज, हैदराबाद में 491 कॉलेज, पुणे में 475 कॉलेज और प्रयागराज में 398 कॉलेज है।

कितने विश्वविद्यालय हैं? 

AISHE के तहत 328 विश्वविद्यालयों से संबंधित 45,473 कॉलेज पंजीकृत हैं। इनमें से 42,825 ने सर्वेक्षण वर्ष 2021-22 में शामिल हुए थे। रिपोर्ट में बताया गया है कि 60 प्रतिशत से अधिक कॉलेज सामान्य, 8.7 प्रतिशत कॉलेज शिक्षा या शिक्षक शिक्षा में विशिष्ट, 6.1 प्रतिशत कॉलेज इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान, 4.3 प्रतिशत नर्सिंग कॉलेज और 3.5 प्रतिशत मेडिकल कॉलेज हैं। वहीं, 2.7 प्रतिशत कॉलेज कला, 2.4 प्रतिशत फार्मेसी पाठ्यक्रम, 0.7 प्रतिशत विज्ञान कॉलेज और 1.4 प्रतिशत संस्कृत कॉलेज हैं। 

वैसे बता दें, भारत सरकार, उच्चतर शिक्षा के क्षेत्र में जानकारी और आंकड़ों को इकट्ठा करने के लिए ये सर्वे करती है। इस सर्वे के जरिए इंडियन हायर इंस्टीट्यूट के बारे में जानकारी मिलती है।

Comment

https://manchh.co/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!